आफ्त में फसें सपाई, पहले खाई लाठी अब हुआ मुकदमा दर्ज

0
142

रजनीश कुमार मिश्र गाजीपुर। गाजीपुर जनपद में सोमवार को सरकार के खिलाफ विरोध जता रहें सपाइयों पर पुलिस ने लाठी भाजी थी। तो वहीं मंगलवार को शहर कोतवाली में 8 नामजद व 50 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुई है।

निषेधाज्ञा और महामारी एक्ट के तहत हुआ, मुकदमा दर्ज

सोमवार को पर्दशन कर रहें सपाइयों के उपर मंगलवार को निषेधाज्ञा और महामारी एक्ट के उल्लंघन का आरोप लगा है।
जिसे लेकर पार्टी नेताओं ने तिखी प्रतक्रिया व्यक्त किया है। जिनके उपर नामजद मुकदमा दर्ज हुआ है,जिनमे छात्र सभा के जिलाध्यक्ष अमित सिंह लालू के अलावा जिलापंचायत सदस्य सतेन्द्र यादव,अभिषेक यादव, निरज यादव,संदीप यादव ,नितीन यादव ,तहसीन अहमद आमीर अली है।इनके अलावा पुलिस ने 50 अज्ञात के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज किया है।

सोमवार को ज्ञापन देने जा रहे थे सफाई

बता दे की सोमवार को पार्टी के प्रदेश नेतृत्व के आवाह्न पर युथ फ्रंटल के कार्यकर्ता महंगाई, बेरोजगारी, भ्रष्टाचार आदि समस्याओं को लेकर भारी संख्या में डीएम कार्यालय ज्ञापन देने जा रहें थे। मौकेपर ही मौजूद पुलिस कर्मियों ने महामारी व निषेधाज्ञा का हवाला दे रोकने का प्रयास कर रही थी।और सिर्फ पांच लोगो को ही अंदर जाने की इजाजत दे रही थी,लेकिन सफाई पुलिस अधिकारियों के लाख कहने के बावजूद भी सभी नियमो को दरकिनार करते हुए भारी संख्या में सपाई डीएम कार्यालय के तरफ बढ़ गये।

जिन्हें रोकने के लिए पुलिस ने बल प्रयोग किया,तब तक भारी संख्या में सपा कार्यकर्ता पुलिस से भीड़ गये।तब पुलिस ने सपा कार्यकर्ताओं के उपर लाठी चार्ज किया। इसके बावजूद भी कार्यकर्ता नहीं माने और डीएम कार्यालय के सामने सरकार विरोधी नारा लगाते हुए धरने पर भी बैठ गये।सपा कार्यकर्ताओं ने डीएम की नामौजूदगी में एसडीएम को ज्ञापन देने के बाद ही उठे।पुलिस और सपा कार्यकर्ताओं के बीच हुए गुरिल्ला युद्ध में सपा कार्यकर्ताओं को चोटें आई तो वहीं कार्यकर्ताओं द्वारा जबाबी कार्यवाई में कुछ पुलिस कर्मियों को भी चोंटे आई है। जिसमे गोराबजार चौकी प्रभारी का अंगुठा लहुलुहान हो गया है।

जिला पंचायत सदस्य सतेन्द्र यादव ने कहा की मेरे उपर जो मुकदमा दर्ज किया गया है।सब पुलिस अपनी बचाव के लिए मुकदमा दर्ज किया है सत्या ने कहा की पुलिस कार्यकर्ताओं के उपर बरबर तरिके से कार्यवाही की है ।जिलाध्यक्ष रामधारी यादव ने कहा की सरकार अपने विरोध में अवाज उठाने वालो को दबाना चाहती है।ये सरकार की तानाशाही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here