the jharokha news

हाथरस कांड सुप्रीम कोर्ट का फैसला- इलाहाबाद HC की निगरानी में होगी CBI जांच, राज्य से बाहर नहीं शिफ्ट होगा केस का ट्रायल


नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के हाथरस में हुए दलित युवती से गैंगरेप और हत्या के मामले में जांच की निगरानी करने और मामले को राज्य के बाहर ट्रांसफर करने से संबंधित याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने मंगलवार को अपना फैसला सुनाया। देश की सबसे बड़ी अदालत ने अपने फैसले में हाथरस केस के ट्रायल को फिलहाल राज्य से बाहर शिफ्ट करने से मना कर दिया। इसके अलावा कोर्ट ने कहा है कि सीबीआई जांच की निगरानी इलाहाबाद हाईकोर्ट करेगा।

दरअसल, हाथरस गैंगरेप कांड से जुड़ी कुछ याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट ने आज फैसला सुनाया। इसमें हाथरस मामले की अदालत की निगरानी में जांच कराने और मामले को दिल्ली स्थानांतरित कराने का अनुरोध किया गया है। हाथरस में एक दलित लड़की से कथित तौर पर सामूहिक दुष्कर्म किया गया था और उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई थी। ट्रायल को किसी दूसरे राज्य में ले जाने को लेकर कोर्ट ने साफ कर दिया है कि, अभी इस मामले की जांच सीबीआई कर रही है, ऐसे में तुरंत ट्रांसफर की जरूरत नहीं है। इस पर बाद में विचार किया जाएगा।

वहीं उच्चतम न्यायालय ने कहा कि पीड़ित परिवार और गवाहों की सुरक्षा से लेकर सभी पहलुओं पर इलाहाबाद उच्च न्यायालय विचार करेगा साथ ही कोर्ट ने यह भी कहा कि सीबीआई वहां स्थिति रिपोर्ट दाखिल करेगी।

बता दें कि इस मामले से जुड़ी याचिकाओं में राज्य सरकार पर सवाल खड़े करते हुए आशंका जताई गई थी कि, उत्तर प्रदेश में निष्पक्ष सुनवाई संभव नहीं है, क्योंकि कथित तौर पर जांच बाधित की गयी। पीड़त परिवार की ओर से पेश वकील ने उच्चतम न्यायालय को बताया था कि इस मामले में जांच पूरी होने के बाद सुनवाई को उत्तर प्रदेश के बाहर राष्ट्रीय राजधानी में स्थानांतरित कर दिया जा

यह भी पढ़े   2021 में निकली भारतीय रेलवे भर्ती 10th ,12th Pass उम्मीदवारों के लिए आया सुनहरा मौका (Indian Railway Recruitment)




Read Previous

मोहम्दाबाद की विधायक व स्व कृष्णानंद की पत्नी अलका राय ने लिखा प्रियंका गांधी को खत

Read Next

पाक्सो एक्ट के तहत एक अभियुक्त चढ़ा, करीमुद्दीनपुर पुलिस के हत्थे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *