the jharokha news

Ghazipur News: Nepal plane crash, नेपाल विमान हादसे में मृतकों के परिजन धरने पर बैठे, गाजीपुर लाए जाएंगे चारों मृतको के शव नेपाल विमान हादसा

Ghazipur News: Nepal plane crash, नेपाल विमान हादसे में मृतकों के परिजन धरने पर बैठे

Ghazipur News: Nepal plane crash, नेपाल विमान हादसे में मृतकों के परिजन धरने पर बैठे

रजनीश कुमार मिश्र, कासिमाबाद (Ghazipur) : रविवार हो नेपाल में हुई विमान दुर्घटना (Nepal plane crash) में मारे गए चारों युवकों के परिजन सोमवार को सुबह दिन निकलने के साथ ही धरने पर बैठ गए। गाजीपुर जनपद के बरेसर थाने क्षेत्र के अलावलपुर चौराहे पर धरने पर नेपाल विमान हादसे Nepal plane crash में चारों मृतकों के परिजन उनके रिशतेदार और सैकड़ों ग्रामीणों के साथ शासन प्रशासन पर आरोप आरोप लगाया कि की शासन प्रशासन के तरफ से कोई भी उच्चाधिकारी अभी तक मिलने नहीं आया । वहीं बरेसर पुलिस व राजस्व की टीम धरने पर बैठे परिजनों को समझाते रहे ।

हलाकि सूचना पा कर मौके पर बलिया के सांसद विरेंद्र सिंह मस्त और अन्य प्रशासनिक अधकारियों के भी पहुंचने की सूचना है। बताया जा रहा है कि जहूराबाद के विधायक ओमप्रकाश रजभर भी मौके पर पहुंच रहे हैं। यह भी सूचना मिल रही है Nepal plane crash मारे गए उत्तर प्रदेश के पांचों मृतकों के शव लाए जाएंगे। बताया जा रहा है पांचवां मृतक भी वाराणीस जिले का रहने वाला है। धरने पर बैठे चारों मृतकों सोनू जायसवाल, अनिल राजभर, अभिषेक कुशवाहा और विशाल शर्मा है परिजनों के साथ ग्रामीणों ने केन्द्र सरकार व राज्य सरकार से मुवावजे की मांग की है । धरने पर बैठे लोगों का कहना है, की किसी भी सूरत में परिजनों को चारों मृतकों के शव मुहैया कराया जाए । केन्द्र सरकार व राज्य सरकार द्वारा मृतकों के परिजनों को आर्थिक सहायता दिलाया जाये ।

धरने पर बैठे परिजनों ने कहा की गाजीपुर की सबसे बड़े अधिकारी के रूप में कुर्सी बैठी जिलाधिकारी आर्यका अखौरी ने अभी तक परिजनों से मिलने नहीं आई और ना ही कोई आश्वासन मिला है। धरने पर बैठे सैकड़ों ग्रामीणों ने कहा की जब तक शासन प्रशासन की तरफ से कोई आश्वासन नहीं मिलता तब तक हम लोग धरने पर बैठे रहेंगे । इस दौरान बरेसर थानाध्यक्ष व राजस्व की टीम धरने पर बैठे लोगों को मनाने में लगी रही । लेकिन मृतकों के परिजन व सैकड़ों ग्रामीण किसी भी बात को मानने को तैयार नहीं थे । खबर लिखे जाने तक किसी भी अधिकारी से बात नहीं हो पाई। नेपाल के पोखरा में हुए विमान हादसे में पांचों युवक उत्तर प्रदेश से है । इनमे उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जनपद से है। जिनमें सोनू जायसवाल, अनिल राजभर, अभिषेक कुशवाहा और विशाल शर्मा है तो वहीं संजय जयसवाल का घर का पता नहीं मिला है ।
सूत्रों के हवाले से जो बात सामने आ रही उसमें संजय भी गाजीपुर जनपद का बताया जा रहा है । बहरहाल जिलाधिकारी आर्यका अखौरी ने सिर्फ चार लोगों के मौत की ही पुष्टि की है । गाजीपुर जनपद के बरेसर थाने क्षेत्र के चारों मृतक एक साथ नेपाल भ्रमण पर गये हुए थे ।

  ए. के. हास्पिटल एण्ड ट्रामा सेण्टर मे दो दिन ओपीडी फ्री

हादसे के समय फेसबुक पर लाइव थे चारों दोस्त

Nepal plane crash में मारे गए सोनू जायसवाल के भाई रजत ने झरोखा न्यूज व Thejharokha.com को बताया के वक्त ये चारों दोस्त एक साथ नेपाल के पोखरा जा रहे थे । उन्होंने बताया की हादसे के वक्त ये लोगसोनू जायसवाल, अनिल राजभर, अभिषेक कुशवाहा और विशाल शर्मा फेसबुक लाइव थे ।

विमान में 5 भारतीय समेत 14 विदेशी नागरिक थे

विमान को कैप्टन कमल केसी उड़ा रहे थे। 68 यात्रियों में से 53 नेपाली, 5 भारतीय, 4 रूसी, एक आयरिश, दो कोरियन, एक अफगानी और एक फ्रेंच नागरिक थे। इनमें 3 नवजात और 3 लड़के भी शामिल हैं। एयरलांइस के प्रवक्ता सुदर्शन बरतौला ने कहा कि विमान के मलबे से अभी तक किसी जीवित व्यक्ति को नहीं निकाला जा सका है।

धरना समाप्त, गाजीपुर लाए जाएंगे चारों के शव

इस बीच मौके सांसद विरेंद्र सिंह मस्त एसडीएम कासिमाबाद व तहसीलदार मौके मौके पर पहुंच को लोगों समझा बुझा कर धरपा खत्म करवा करा दिया है। बाद दोपहर ढाई बजे तक चला यह घरना सांसद विरेंद्र सिंह मस्त और अन्य प्रशासनिक अधकारियों के प्रयास खत्म हो गया है। इस दौरान सांसद विरेंद्र सिंह मस्त ने मृतकों के परिजनों सहित धरने पर बैठे लोगों आश्वासन दिया कि सभी चारों मृतकों के शव नेपाल सरकार के साथ कागजी औपचारिकता पूरी करने के बाद गाजीपुर लाया जाएगा। इस दौरान सांसद मस्त ने कहा कि प्रशासन द्वारा जो भी बन पाएगा मृतकों को परिजनों की सहायता की जाएगी। मामले में तहसीलदार जया सिंह ने बताया कि यूपी के सभी लोगों के शवों का पोस्टमॉर्टम काठमांडू में किया जाएगा। फिर शव दिल्ली भेजे जाएंगे। वहां से शवों को घर भेजा जाएगा। गाजीपुर के चारों युवकों के शवों की शिनाख्त हो गई है।

विधायक भी पहुंचे मृतक अनिल राजभर के घर

बताया जा रहा है कि जहूराबाद के विधायक ओमप्रकाश राजभर भी Nepal plane crash में मारे गए अनिल राजभर के घर संवेदना व्यक्त करने पहुंचे हैं। सूत्रों के हवाले से खबर है कि वह भी धरना स्थल अलावलपुर की नकल पड़ हैं।

  Azamgarh News : आजमगढ़ में मुस्लिम लड़की को हिंदू लड़के से हुआ प्यार, मंदिर में रचाई शादी

बचपन के दोस्त थे चारों, अंतिम सांस तक निभाई दोस्ती

Nepal plane crash में मारे गए सोनू जायसवाल के भाई रजत ने झरोखा न्यूज व Thejharokha.com को बताया कि सोनू जायसवाल, अनिल राजभर, अभिषेक कुशवाहा और विशाल शर्मा ये चारों बचन के दोस्त थे। इनकी पढ़ाई लिखाई भी साथ ही हुई थी। उन्होंने बताया कि ये चारों इससे पहले भी एक साथ ही घूमने गए थे। प्लेन क्रैश मारे गए अनिल राजभर भी जनसेवा केंद्र चलाते हैं। सोनू जायसवाल और अनिल पक्के दोस्त थे। अनिल के परिजन बताते हैं, सोनू जब भी अपने घर आता तो उसका दिन अनिल की दुकान पर ही बीतता। सोनू घूमने का शौकीन था। इसीलिए वह हमेशा अपने खर्चे पर अनिल को ले जाया करता था। क्योंकि अनिल की माली हालत बहुत अच्छी नहीं थी। जबकि सोनू संपन्न था। नेपाल ट्रिप भी उसी का प्लान था। जिसके लिए चारो दोस्त इकट्‌ठा हुए थे।

अभिषेक के माता-पिता को अभी मौत के बारे में पता नहीं

प्लेन क्रैश में जान गंवाने वाले अभिषेक के बड़े भाई अभिनेष कुशवाहा कहते हैं, “अभिषेक बचपन से होनहार था। मैं पढ़ने में काफी कमजोर था। 10वीं तक ही पास हूं। हम दोनों भाई मिलकर जनसेवा केंद्र चलाते हैं। उसके तीनों दोस्तों को भी मैं जानता हूं। यह सभी एक दूसरे से काफी करीब थे। सभी कहीं न कहीं मौका मिलने पर घूमने जाया करते थे। अभी पिछले महीने ही अभिषेक अपने दोस्तों के साथ बिहार के गुप्ताधाम घूम कर आए थे। नेपाल जाने से पहले अभिषेक ने मुझसे भी बताया था कि हम लोग नेपाल जाने वाले हैं।”

ट्रेन से गए थे रक्सौल बॉर्डर तक

बड़े भाई ने बताया, “अभिषेक अपने दोस्तों के साथ 12 जनवरी को निकला था। यहां से रक्सौल बॉर्डर ट्रेन से गया। वहां बस से काठमांडू पहुंचा फिर वहां से प्लेन से पोखरा जा रहा था। अभिषेक ने आज सुबह ही मुझे कॉल कर कहा था कि एक गूगल पे का नंबर दे रहा हूं। उस पर 5000 रुपए भेज दीजिए। मुझे मजाक लगा तो पहले पांच रुपए भेजे। फिर दोबारा अभिषेक का कॉल आया तो फिर 5 हजार रुपए डाले।” अभिनेष कुशवाहा ने बताया कि अभी भाई की मौत की खबर माता-पिता को नहीं दी है। मां बाप को सिर्फ पता है कि उसका एक्सीडेंट हो गया है। मां और अभिषेक की भाभी का रो रोकर बुरा हाल है।”








Read Previous

Ghazipur News: नेपाल विमान हादसे में चार बरेसर एक नोनहरा थाने क्षेत्र के युवकों की मौत वीडियो हुई वायरल

Read Next

Ghazipur News : हे राम ! प्रधान जी और ऐसा घिनौना काम