फिर पलटी यूपी पुलिस की जिप्‍सी, खूंखार गैंगस्‍ट की लखनऊ पहुंचने से पहले ही मौत

बार यूपी में नहीं बल्कि मध्‍य प्रदेश के गुना में पलटी जिससे एक खूंखार गैंगस्‍टर की मौत हो गई। उल्‍लेखनीय है कि इससे पहले भी एसटीएफ की जिप्‍सी विकास दूबे प्रकरण में दो बार पलटी थी

0
  • उत्‍तर प्रदेश के बहराइच जिले का रहने वाला था गैगस्‍टर फिरोज
  • मध्‍य प्रदेश के गुुना जिले में पुलिस की कार हुई दुर्घटना ग्रस्‍त
  • मुंबई से गिरफ्तार कर लखनऊ ला रही थी पुलिस
  • एक सब इंस्‍पेक्‍टर सहित चार जख्‍मी, घायलों में गैंगस्‍टर का साढू भी

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश पुलिस की जिप्‍सी लखनऊ पहुंचने से पहले फिर पलट गई। लेकिन इस बार यूपी में नहीं बल्कि मध्‍य प्रदेश के गुना में पलटी जिससे एक खूंखार गैंगस्‍टर की मौत हो गई। उल्‍लेखनीय है कि इससे पहले भी एसटीएफ की जिप्‍सी विकास दूबे प्रकरण में दो बार पलटी थी जिसमें भागने की कोशिश करते हुए विकास दुबे कानपुरवाला और उसका एक गुर्गा मारा गया था। हादसे मे मारा गया गैंगस्‍टर बहराइच जिले का रहने वाला था। बताया जा रहा है कि फिरोज पुलिस से बचने के लिए मुंबई की झुग्‍गी बस्‍ती में छिप कर रह रहा था।

मुंबई से लखनऊ लाया जा रहा था गैंगस्‍टर

मामले के अनुसर उत्‍तर प्रदेश पुलिस मुंबई से एक गैंगस्टर को काबू कर अपनी निजी गाड़ी में लखनऊ ला रही थी। लेकिन, पुलिस की यह गाड़ी लखनऊ पहुंचने से पहले ही मध्‍यप्रदेश के गुना पाखरिया पुरा टोल के पास पलट गई। इस हादसे में आरोपी गैंगस्‍ट फिरोज अली की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं, एक सब इंस्पेक्टर और कांस्‍टेबल सहित चार लोग गंभीर रूप से जख्‍मी हो गए। जिन्‍हें पास के एक अस्‍पताल में दाखिल करवाया गया है।

सड़क पर पशु आने से हुआ हादसा

इस संबंध में उत्‍तर प्रदेश पुलिस के सब इंस्पेक्टर जगदीश प्रसाद ने गुना के पुलिस अधिकारियों को बताया कि सड़क पर अचानक गाय सामने आ गई थी। उसे बचाने में पुलिस का वाहन पलट गया। जिससे यह हादसा हुआ। इस हादसे में गैगस्‍टर फिरोज के साढू अफजल खान का हाथ फ्रैक्चर हो गया। जबकि, सब इंस्‍टपेक्‍टर जगदीश प्रसाद पांडेय, कास्‍टेबल संजीव, और वाहन चालक सुलभ मिश्रा जख्मी हो गये हैं।

लखनऊ के ठाकुरगंज थाने में दर्ज था केस

बताया जा रहा है कि बहराइच जिले के थाना कोतवाली दरगाह शरीफ के घंटाघर निवासी 58 वर्षीय फिरोज उर्फ शमी के खिलाफ लखनऊ के ठाकुरगंज थाने में वर्ष 2014 में उसके खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हुआ था। उसी के बाद से वह फरार था। इसी गैंगस्‍टर को गिरफ्तार करने के लिए सब इंस्पेक्टर जगदीश प्रसाद पाण्डेय, कांस्टेबल संजीव सिंह और आरोपित के साढ़ू अफजल खान निवासी लखनऊ के साथ मुंबई गए थे। बताया जा रहा है कि फिरोज के खिलाफ कोर्ट ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। उसके उपर, हत्‍या, लूट सहित कई मामले दर्ज थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here