Breaking News
    2 hours ago

    शाम ढले खिड़की तले, तुम सीटी बजाना छोड़ दो… हिंदी फिल्म अलबेला का यह गाना कि शाम ढले खिड़की तले, तुम सीटी बजाना छोड़ दो, घड़ी-घड़ी खिड़की में खड़ी तुम तीर चलाना छोड़ दो। यह गाना उस समय बहुत पॉपुलर हुआ था। इस गाने को मैं आज देश खासकर दिल्ली बॉर्डर पर किसानों के आंदोलन से जोड़कर देख रहा हूं। पता नहीं आपको पसंद आएगा या नहीं, लेकिन इसके माध्यम से मैं देश के अन्नदाताओं और देश की सरकार को आगाह करना चाहता हूं। हालांकि मैं ठहरा अदना सा इंसान, लेकिन जब आप जैसे बड़े लोगों के पास ये बात पहुंचेगी तो आप कहीं ना कहीं इस बात को आगे पहुंचाने का काम करोगे, यह मुझे विश्वास ही नहीं पूरा यकीन है।आखिर इस गीत को मैं किसान आंदोलन से क्यों जोड़ रहा हूं इसका कारण यह है कि जब हरियाणा प्रदेश में 19 फरवरी 2016 से जाट आंदोलन की हिंसा भड़की तो रातों के समय असामाजिक तत्वों ने प्रदेश में जगह जगह आगजनी की घटनाओं को अंजाम दिया और बड़े शहरों में लूट की वारदातों को अंजाम दिया। सारा जिम्मा जाट समुदाय पर मंढ दिया गया और कई युवा जाट नेता उसके चलते अब भी जेल में हैं। यहां मैं असामाजिक तत्वों की परिभाषा को परिभाषित करना चाहूंगा जो मेरी नजर में हैं। असामाजिक तत्व वे होते हैं जिनकी ना कोई जात, ना कोई धर्म और ना ही कोई मजहब होता है। उनका काम इस तरह के आंदोलनों में हिंसा को फैलाना और राम राम रटना पराया माल अपना होता है। हालांकि मैं रात भर और दिन में भी टीवी देखता हूं वो भी सिर्फ एनडीटीवी, बाकि तो लगभग देश के कारपोरेट घरानों के न्यूज चैनल हैं। इसलिए मेरा पहला निवेदन आंदोलन कर रहे किसानों से है कि वे शाम ढलने के बाद ये ना सोचें कि अब उनका आज का काम खत्म हो गया और वे आराम से नींद लेंगे। यह उनकी गलतफहमी है। कारण इस समय दिल्ली के आसपास हालात ही ऐसे बने हुए हैं कि रात को अगर वहां कोई किसी तरह की अप्रिय वारदात को अंजाम दे तो उसका ठीकरा किसानों पर ही फोड़ा जाएगा। सरकार कहेगी कि हम तो किसानों को बातचीत के लिए बुला रहे हैं, लेकिन वे नहीं आ रहे, इसलिए किसानों ने ही इस तरह की अप्रिय वारदात को अंजाम जानबूझकर दिया है। हालांकि मैं टीवी पर देख रहा हूं कि किसान उग्र स्वभाव वाले किसानों को दिल्ली पुलिस द्वारा लगाए बैरीगेटस को तोड़ने का प्रयास करने वाले किसान नेता समझा रहे हैं कि हमें ऐसा नहीं करना। हालांकि वे उनकी बात मान भी रहे हैं, लेकिन अगर यही काम कोई रात को कर जाए, किसी पर पैट्रोल छिड़क जाए, कहीं सड़कों पर सोए किसानों पर एसिड अटैक कर दे, कोई किसानों के नाम पर उनके साथ लूटपाट कर जाए। कुछ पता नहीं, उस समय हरियाणा प्रदेश की जाट कोम पर आरोप थोपे गए, लेकिन सबको पता है कि उन वारदातों को किसने अंजाम दिया था। मगर नाम जाट आरक्षण आंदोलन का था तो एक समुदाय को निशाना बना लिया।अब किसान आंदोलन कर रहे हैंमगर इस समय देश के किसान आंदोलन कर रहे हैं, किसानों का मतलब हैं कि जो लोग खेती बाड़ी से अपनी गुजर बसर कर रहे हैं वे किसान हैं, उनमें हालांकि कुछ लोगों के दिमाग में अब भी यह वहम है कि ये सिर्फ जाट हैं चाहे सिक्ख जाट हो हरियाणा का देसी जाट, लेकिन सच्चाई यह है कि स्वर्ण जाति के महाजन और ब्राह्मण समुदाय के एक बड़े हिस्से को छोड़कर बाकि सब किसान हैं। देश की खेती किसानी लगभग पंजाब, हरियाणा, यूपी, महाराष्ट्र के अलावा और भी कई प्रदेश भी शामिल हैं। पंजाब के किसानों के बारे में बहुत मशहूर है कि वे बड़े ही दिलदार और दोस्ती या हक के लिए अपनी जान पर खेलने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। मैंने ऐसा देखा भी है, वो किस्सा 1985 का है जिसे बाद में पूरे विवरण के साथ लिखूंगा। अब इतना ही है कि हमारे देश के अन्नदाताओ सरकार आपकी सुने या ना सुने, आप आंदोलन कर रहे हो तो अपने आपको सजींदा रखो और दिन की बजाए रात को चौकसी बढाओ। वहीं सरकार से अपील है कि आप अगर किसानों से बात नहीं करना चाहते तो आप किसी तरह के ओच्छे हथकंडे भी ना अपनाएं, अन्यथा इस देश का अन्नदाता अपनी पर उतर आया तो सरकार तो क्या देश का बैंड बजा देगा।आखिर में अपना लेख भी जोकर फिल्म के गाने जीना यहां मरना यहां से खत्म करना चाहता हूं। हालांकि आपसे पहले ही कह चुका हूं कि मेरे सभी बड़ो आपका मैं बहुत सम्मान करता हूं जी, किसी बात का बुरा लगे तो मैं एक बार फिर से माफी मांगता हूं। साथ में यह जरूर दावा करता हूं कि देश का किसान इस बार दिल्ली से खाली हाथ नहीं लौटने वाला। यह मेरा आपसे वायदा रहा। देख लेना मेरी भविष्यवाणी कितनी खरी उतरती है। अरे इस देश में किसानों को तो कोरोना संक्रमण के चलते दिल्ली में जाने की अनुमति नहीं और और उस गुंडे बदमाश अमित शाह को अहमदाबाद खुली रैली कर रहे हैं। मेरा खुला चैलेंज है कि क्या कोरोना ने रविवार को अहमदाबाद में अवकाश दिया था और क्या देश के किसानों पर इसका स्पेशल अटैक कराया था। आज के लिए बस इतना ही।

    6 hours ago

    क्या आप जानते हैं मुर्दे का मांस क्यों खाते हैं अघोरी

    इस स्‍टोरी में प्रयुक्‍त की गई सभी फाेेटो सोशल साइट्स से ली गई हैं। द झरोखाकुंभ के मेले में तरह-तरह…
    18 hours ago

    ghazipur, बाराचवर को चाहिए जवाब! पंचायत चुनाव के 65 साल, गांव में खेल स्टेडियम तक नहीं

    बाराचवर (गाजीपुर) से रजनीश मिश्र की ग्राउंड रिपोर्टअगले साल 2021 में उत्‍तर पदेश में पंचायत चुनाव होने हैं। लेकिन सरकार…
    22 hours ago

    सरकारी जमीन पर बनी थी जंजीर शाह की मजार, प्रशासन ने किया ध्‍वस्‍त

    रामपुर। सरकारी जमीन पर बने जंजीर शाह की मजार को जिला प्रशासन ने ध्‍वस्‍त कर दिया है1 बताया जा रहा…
    23 hours ago

    crime, अंबेडकर नगर में चलीं ताबड़तोड़ गोलियां, सिपाही जख्मी

    अंबेडकरनगर । उत्‍तर प्रदेश में अपराधियों के हौशले इतने बुलंद हैं कि उनकी गोली से एक सिपाही जख्‍मी हो गया।…
    24 hours ago

    गाजीपुर के किसानों को दी बीजों के उपचार की जानकारी

    झरोखा न्‍यूज, गाजीपुर । रिलायंस फाउंडेशन द्वारा ग़ाज़ीपुर जिले के किसानों के लिए फोन इन कार्यक्रम एवं आडियो कान्फ्रेंस कार्यक्रम…
    1 day ago

    पंचायतों में लगातार बढ़ रहा है भ्रष्टाचार प्रशासन बना मूकदर्शक

    शहडोल ब्यौहारी से दुर्गेश कुमार गुप्ता की रिपोर्ट : जयसिंहनगर, जनपद पंचायत अंतर्गत ग्राम पंचायत प तेरिया टोला इन दिनों…
    1 day ago

    डॉक्टरों को पैसे देने से अच्छा है, खुद के शरीर पर देंं ध्यान : दीपक नेगी

    झरोखा न्‍यूज, जालंधर । हेल्थ केयर सोसायटी की तरफ से श्री गुरु नानक देव जी के प्रकाशोत्सव पर बल्र्टन पार्क…
    1 day ago

    उन्नाव दुष्कर्म कांड के घायल वकील ने दम तोड़ा, crime news in up

    लखलऊ । उत्‍तर प्रदेश के उन्‍नाव में पूर्व विधायक कुलदीप सेंगर -दुष्‍कर्म कांड की पीडि़ता के घायल वकील महेंद्र सिंह…
    1 day ago

    लुधियाना के थाना फोकल प्वाइंट पुलिस ने सुनी जन समस्या, 50 केसों का किया निपटारा

    लुधियाना । शहर के थाना फ़ोकल प्वाइंट में पुलिस कमिश्नर राकेश अग्रवाल के निर्देशानुसार इंस्पेक्टर मोहम्मद  जमील की अगुवाई में…

    News

    सिनेमा

      3 days ago

      अच्छी कमाई कर लेती हैं गैंगस्टर्स के जीवन पर बनी फिल्में

      सिद्धार्थ : पंजाबी फिल्‍म ‘शूटर’ को उसके रिलीज होने से पहले ही उसे हिंसक बता कर उसपर पाबंदी लगाना और…
      6 days ago

      भारती सिंह की मुश्किलें बढ़ी, चार दिसंबर तक नहीं मिलेगी बेल

      मुंबई। गांजे के साथ पकड़ी गईं हास्‍य कलाकार भारती सिंह को फिलहाल कोई रहत‍ मिलती नजर नहीं हा आ रही…
      2 weeks ago

      अमिताभ बच्चन ‘द क्राउन’ के प्रशंसक हैं: देख नहीं सकते

      नेटफ्लिक्स ने हाल ही में ‘द क्राउन’ का नवीनतम एपिसोड जारी किया है और हम यह सुनिश्चित कर सकते हैं…
      2 weeks ago

      टॉम एंड जेरी ट्रेलर: टॉम एंड जेरी बड़े पर्दे पर अपनी क्लासिक कैट-एंड-माउस चेज़ के साथ शादी के ट्विस्ट के साथ पहुंचे

      नई टॉम एंड जेरी फिल्म का ट्रेलर बाहर है और वे न्यूयॉर्क के सबसे पुराने होटलों में से एक में…
      October 30, 2020

      इंडियन आइडल की जज नेहा कक्कर शादीशुदा हैं

      नेहा कक्कर एक लोकप्रिय गायिका हैं और उन्होंने कई लोकप्रिय बॉलीवुड गीत गाए हैं। वह सिंगिंग शो इंडियन आइडल में…
      October 17, 2020

      दुष्‍कर्म के आरोपों में घिरे मिथुन चक्रवर्ती के बेट महाअक्षय

      फिल्‍म अभिनेता महाअक्षय पर दुष्‍कर्म और गर्भपात कराने का आरोप लगा है। महाअक्षय गुजरे जमाने के प्रसिद्ध अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती…
      October 17, 2020

      नई मुसिबत में कंगना, हो सकती है गिरफ्तारी

      फिल्‍म अभिनेत्री कंगना रणौत अब नई मुसिबत में फंसती नजर आ रही है। मुंबई की बांद्रा कोर्ट ने कंगना के…
      October 7, 2020

      रिया चक्रवर्ती को मिली जमानत, थाने में लगानी होगी हाजिरी

      फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की मुख्य आरोपी रिया चक्रवर्ती को ड्रग्स मामले में करीब 55 दिन बाद…
      Back to top button
      error: Content is protected !!