पति को नींद की गोलियां दे घर में ही प्रेमी संग रंगरलियां मनाती थी महिला

मेरठ के थाना क्षेत्र टोपी नगर से एक सनसनी फैलाने वाली खबर प्रकाश में आई है। यहां एक महिला को अपने ही घर में रंगरलियां मनाते हुए पड़ोसियों ने रंगे हाथों धर लिया है।

0
प्रतिकात्‍मक फोटो : स्रोत सोशल साइट्स

लखनऊ: मेरठ के थाना क्षेत्र टोपी नगर से एक सनसनी फैलाने वाली खबर प्रकाश में आई है। यहां एक महिला को अपने ही घर में रंगरलियां मनाते हुए पड़ोसियों ने रंगे हाथों धर लिया है। जब पूरा मामला साने आया तो पड़ोसी सन्‍न रह गए। उन्‍होंने देखा कि घर के दूसरे कमरे में पति और तीन छोटे बच्चे बेसुध पड़े थे। जिन्‍हें पड़ोसियों ने हस्‍पताल में दाखिल करवाया। पति की शिकायत पर संबंधित थाने की पुलिस ने आरोपी महिला को गिरफ्तार कर लिया है।

यह है मामला

महिला के पति ने आरोप लगाया कि पिछले कुछ समय से उसकी पत्‍नी खानी में नींद की गोलियां मिला कर देती थी। बेसुध होने पर घर में ही अपने प्रेमी के साथ रंगरलियां मनाती है। यही नहीं पति ने आरोप लगाया कि उसकी पत्‍नी ने उसके गुप्तांग पर हार्पिक डालकर खराब कर दिया है।

मिठाई और बिरियानी लेकर आता था पत्‍नी का प्रेमी

मलियाना निवासी शादाब ने बताया कि सरधना निवासी डॉ: वसीम उसका परिचित है। जो उसके घर अक्‍सर आता जाता रहाता है। वसीम कभी मिठाई तो कभी बिरियानी लेकर आता है। जिसे खाने के बाद शादाब और उसके बच्‍चे गहरी नींद में सो जाते थे। इसके बाद वसीम और उसकी (शादाब की) पत्नी चांदनी बिना किसी डर के घर में रंगरलियां मनाते थे।

ऐसे खुला भेद

बताया जा रहा है वसीम शादाब के घर आया था। इसमें बेहोशी की दवाई मिली थी। जिसे खाने के बाद और उसके बच्‍चे बेसुध हो गए। इसके बाद देर रात वसीम शादाब के घर में घुस रहा था। तभी पड़ोसियों ने वसीम को देख लिया। पड़ोसी उसे चोर समझ कर शोर मचाते हुए शादाब के घर में घुस गए।

प्रेमी को बचाने के लिए टॉलेट में किया बंद

बताया जा रहा है कि चांदनी ने वसीम को बचाने के लिए घर के टॉयलेट में बंद कर दिया। इसके बाद चाकू निकाल कर कलाई की नस काटने की धमकी देने लगी। लोगों ने जैसे ही टॉयलेट का दरवाजा खोला तो महिला का प्रेमी घर से फरार हो गया।

कई महीनों से चल रहा था खेल

पति शादाब का आरोप है कि चांदनी बीते कई महीनों से शादाब को बेहोश करने के बाद उसके गुप्तांग पर हार्पिक जैसी कोई चीज डाल रही थी। इससे उसके गुप्तांग पर गहरे घाव हो गए थे। शादाब इसे चर्म रोग समझकर डॉक्टरों से उपचार कराता रहा। अब जब पूरे मामले का खुलासा हुआ है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here