उत्तर प्रदेश

फूलन देवी, चर्चित बेहमई हत्यां कांड के वादी राजाराम का 85 वर्ष की उम्र में निधन

Phoolan Devi was shot dead in February 1981 by six family members including Rajaram's brother and nephews.

  • thejharokhanews apk

फूलन देवी ने राजाराम के भाई और भतीजों समेत परिवार के छह सदस्योंा की फरवरी 1981 में गोली मार कर कर दी थी हत्याह

phoolan devee ne raajaaraam ke bhaee aur bhateejon samet parivaar ke chhah sadasyona kee pharavaree 1981 mein golee maar kar kar dee thee hatyaah

लखनऊ । उत्तयर प्रदेश के कानपुर देहात जिले में करीब 40 वर्ष पहले हुए फूलनदेवी बेहमई कांड के मुख्य वादी राजाराम की 05 वर्ष की उम्र में सोमवार को निधन हो गया। बताया जा रहा है कि राजाराम लंबे समय से बीमार चल रहे थे और उनका जिले के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा था। राजाराम ने ही बैंडिट क्वीपन फूलन देवी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था।

चंबल की डाकू फूलन देवी ने राजा राम के सगे भाई और भतीजों समेत परिवार के छह लोगों को कतार खड़ा करवा एक साथ गोली मार कर हत्या कर दी थी। घटना कानपुर देहात के राजपुर थाना क्षेत्र के बेहमई गांव में हुई थी। उस समय राजाराम बच गए थे।

डाकू फूलन देवी ने की थी 20 लोगों हत्या

लोगों को याद होगा 14 फरवरी 1981 का वह दिन जब जिले के बेहमई गांव में डकैत फूलन देवी ने लाइन से खड़ा करके 20 ठाकुरों की गोली मारकर हत्या कर दी थी। इस घटना के बाद विदेशी मीडिया ने भी जिले में डेरा डाला था।

वादी राजाराम ने फूलन समेत 36 डकैतों पर हत्या व लूटपाट का मुकदमा राजपुर थाने में दर्ज कराया था। इस कांड के बाद ही बेहमई गांव चर्चा में आ गया था और पुलिस ने तभी से बेहमई में रिपोर्टिंग चौकी बनाई थी। वादी राजाराम हर तारीख पर न्याय पाने की आस में सुनवाई के लिए जिला न्यायालय पहुंचते थे। और तभी से यह मामला जिला न्याायाल में विचारधीन है।

इस संबंध में कानपुर देहात न्यायालय के डीजीसी राजू पोरवाल ने कहा कि राजाराम की मौत से बेहमई कांड मामले की सुनवाई में कोई फर्क नही पड़ेगा। उन्होंईने बताया कि वादी राजाराम का मरने से पहले बयान दर्ज हो चुका है। केस की सुनवाई जारी रहेगी।

Jharokha

द झरोखा न्यूज़ आपके समाचार, मनोरंजन, संगीत फैशन वेबसाइट है। हम आपको मनोरंजन उद्योग से सीधे ताजा ब्रेकिंग न्यूज और वीडियो प्रदान करते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!