the jharokha news

25 वर्ष से बिकरु ग्राम पंचायत में कोई चुनाव नहीं हुआ था। चुनाव ना होने का कारण था गैंगस्टर विकास दुबे

कानपुर। उत्तर प्रदेश में इन दिनों पंचायत चुनाव चल रहे हैं। पंचायत चुनाव के पहले चरण का मतदान 15 अप्रैल को होना है। 15 अप्रैल को ही कानपुर में भी मतदान होगा। कानपुर की एक सबसे खास सीट है, जिसको लेकर चर्चा इन दिनों जोरों पर है।

सीट का नाम में बिकरु ग्राम पंचायत। विदित हो कि बिकरु ग्राम पंचायत वही ग्राम पंचायत है जहां पर गैंगस्टर विकास दुबे ने पुलिस विभाग के डीएसपी समेत आठ पुलिस वालों की हत्या कर दी थी। पिछले 25 वर्ष से बिकरु ग्राम पंचायत में कोई चुनाव नहीं हुआ था। चुनाव ना होने का कारण था गैंगस्टर विकास दुबे।

विकास दुबे के गांव में ऐसी स्थिति थी कि कोई उनके सामने चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं जता पाता था। पिछले 25 वर्षों से विकास दुबे के परिवार का ही ग्राम पंचायत प्रधान पद पर कब्जा रहता था। विकास दुबे के परिवार का सदस्य ही निर्विरोध प्रधान चुना जाता था।

विकास दुबे तो इस दुनिया में नहीं रहा उसके कुछ साथी भी पुलिस एनकाउंटर में मारे गए तो इस बार बिकरु ग्राम पंचायत में चुनाव होने जा रहा है। 1-2 नहीं बल्कि 10 दावेदारों ने ग्राम प्रधान के लिए नामांकन किया है। कौन जीतेगा? कौन हारेगा? यह तो वक्त ही तय करेगा।

मगर पहली बार ऐसा हो रहा है एक लंबे अरसे के बाद की बिकरु ग्राम पंचायत में चुनाव होने जा रहा है और यह सब हुआ विकास दुबे के इस दुनिया में से जाने के बाद उसके रहते चुनाव होना मानो संभव ही नहीं था। लोगों को डर रहता था कि कहीं उसकी कोई हत्या न कर दे।

Read Previous

उप जिला अधिकारी कासिमाबाद के निर्देश पर गांव में लगी आग से बचाव के तरीके समझाने हेतु लोगों को एकत्रित कर लेखपाल ने किया कोविड-19 (COVID-19) नियमों का उल्लंघन

Read Next

पंचायत चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशियों के समर्थन में निर्मल खत्री ने की बैठक

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!