the jharokha news

स्टोन क्रेशर माफियाओं पर पुलिस की बड़ी कार्रवाई, केस दर्ज

स्टोन क्रेशर माफियाओं पर पुलिस की बड़ी कार्रवाई, केस दर्ज

प्रतिकात्मक फोटो। स्रोत सोशल साइट्स

सहारनपुर। मुख्यमंत्री के आदेश पर अवैध रूप से स्टोन क्रेशर संचालन करने वाले माफियाओं के खिलाफ थाना बेहट पर मुकदमा दर्ज किया गया।  थाना बेहट क्षेत्रान्तर्गत ग्राम बरथा कोरसी निवासी गोविंदा पुत्र प्रीतम सिंह ने बताया कि उसके द्वारा उ.प्र. के मुख्यमंत्री पोर्टल पर अवैध रूप से संचालित किए जा रहे स्टोनक्रेशर स्वामियों के खिलाफ कार्यवाही कर जानमाल की सुरक्षा की मांग की गयी थी जिस पर मुख्यमंत्री द्वारा मामले का संज्ञान लेकर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने के आदेश दिए थे।

उसने बताया कि उसके गांव बरसा कोरसी के पास अवैध तरीके से स्टोन क्रेशर का संचालन किया जा रहा है, इस बात की शिकायत उसने जिलाधिकारी से की तो विपक्षीगण ने उसके ऊपर जानलेवा हमला कर दिया तथा फैसले का दबाव बनाया गया। उसने यह भी बताया कि उसे रंगदारी देने की पेशकश की गयी लेकिन उसने मना कर दिया जिससे कुंठित होकर शिवराज सिंह एड., अभिमन्यु पुत्र शिवराज सिंह, जोध सिंह पुत्र जीवन सिंह, अरविंद पोडी पीपली, रविन्द्र पुत्र करता राम, सोहन मुखिया पुत्र मोल्हड, अरविंद पुत्र जोध सिंह आदि लोगों ने साजिश के तहत कराया है।

उसने बताया कि 13 मार्च 2021 को ये सभी अवैध खनन करा रहे थे तो उसने द्वारा वीडियो बना ली गयी थी, तो स्टोन क्रेशर मालिकों के गुर्गे योगेश पुत्र यशपाल सिंह, अरविंदपुत्र यशपाल के साथ के दो-तीन लोग आये और उसे धमकी दी और उस पर फायर भी किया और उसे बुरी तरह से मारा पीटा। जब उसने इस बात की शिकायत थाने में की तो उसकी शिकायत दर्ज नहंी की गयी इन लोगों ने अपने बचाव में उल्टा उस पर ही 18 मार्च 21 को एक झूठा मुकदमा दर्ज करा दिया और उसे ही जेल भिजवा दिया।

उसने बताया कि शिवराज सिंह व उसका पुत्र अभिमन्यु एक शातिर व गिरोह बंद लोग हैं, यह लोग धन-बल के चलते सेटिंग गेटिंग कर अपना अवैध धंधा फलीभूत करते हैं। उसने बताया कि अभियुक्तों के खिलाफ वाद संख्या0463/21 दर्ज हुआ है। उसने यह भी बताया कि उसे विपक्षीगण से जानमाल का खतरा बना हुआ है। उसने जिलाध्किारी सहित आला अधिकारियों से विपक्षीगण के खिलाफ कार्यवाही की मांग करते हुए उक्त प्रकरण की निष्पक्ष जांच कराये जाने की गुहार लगायी है।

[metaslider id="25450"]





Read Previous

कैबिनेट मंत्री ने कहा, कौन है ओम प्रकाश राजभर, मैं नहीं जानता

Read Next

पुर्वांचल एक्सप्रेसवे मे के कार्यरत ओरिएंटल कम्पनी के ड्राइवर का अज्ञात कारणों से हुई मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published.