the jharokha news

कृषि कानूनों के खिलाफ धरने पर बैठे हरिणा के किसान ने लगाई फांसी


बहादुरगढ । कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ दिल्ली बार्डर पर चल रहे धरने में एक किसान ने फांसी लगा कर आत्महत्या कर ली है। मृतक की पहचान कर्मबीर निवासी सिंघवा, जिला जिंद हरियाणा के रूप में हुई है। मृतक के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है। बाताया जा रहा है केंद्र सरकार के कृषिसुधार कानूनों से नाराज किसान कर्मबीर ने सेक्टर ९ के बाईपास के एक पार्क में पेड़ से फंदा लाग कर जान दे दी।  मौके पर पहुंची पुलिस ने शव का पंचनामा करवा कर उसे पोस्टमार्टम के लिए सरकारी अस्पताल भिजवा दिया है।

पुलिस के मुताबिक कर्मबीर के पास से मिले सुसाईट नोट में उसने लिखा है कि सरकार तारीख पर तारीख दे रही है। पता नहीं यह कानून कब रद होगा। मिली जानकारी के अनुसार दिल्ली के टीकरी बार्डर पर ही दो और किसानों के मरने की खबर है। ये दोनो किसान पंजाब के बताए जा रहे है। इनमें एक मोगा और संगरूर जिले का रहने वाला बताया जा रहा है। इन दोनों की उम्र ६० और ७० वर्ष बताई जा रही है। कयास लगाया जा रहा है कि इनकी मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई है। फिलहाल मौत के असल कारणों का पता नहीं चल सका है।


यह भी पढ़े   कमिश्नर DK Thakur के निर्देशन पर लखनऊ जिले की पुलिस हुई सर्तक



Read Previous

राम लला के दर्शन करने अयोध्या पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ

Read Next

मोतिहारी में नाबालिग से दुष्कर्म, हत्या के बाद शव जलाया, उठा सियासी तूफान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *