the jharokha news

उत्तर प्रदेश

खाकी का थर्ड डिग्री टॉर्चर, युवक हुआ बेदम

बस्त्ती । लाख कोशिशों के बावजूद उत्तर प्रदेश के बिगड़ैल पुलिस अपनी छवि नहीं बदल पा रही है। उत्तर प्रदेश पुलिस का विकृत चेहरा एक बार फिर सुर्खियों में है। News in hindi

इस बार बस्ती जिले के पुरानी बस्ती थाने की पुलिस व क्राइम ब्रांच द्वारा एक युवक के साथ जबरन जुर्म कमाने के लिए थर्ड डिग्री इस्तेमाल करने का आरोप लगा है।

इतना ही नहीं अपनी पुलिस की इस बर्बरता की जानकारी होने के बाद जब एडिशनल एसपी रविंदर सिंह क्राइम ब्रांच के दफ्तर में पहुंचे और उन्होंने पीड़ित युवक के साथ हुई थर्ड डिग्री के निशान देखे तो उन्होंने उसे तत्काल इलाज के लिए भेज दिया।

अब इस पूरे मामले को लेकर एडिशनल एसपी ने कहा कि जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

यह है मामला

दरअसल हिंदू युवा वाहिनी के कार्यकर्ता और युवा नेता राजन सिंह उर्फ सूर्यभान को बस्ती पुलिस ने एट हफ्ते पहले हुए पप्पू कबाड़ी नाम के एक व्यापारी के साथ सी नदी की घटना के मामले में पूछताछ के लिए थाने में लाया था जहां उसके साथ पूछताछ के नाम पर बर्बरता की सारी हदें पार कर दी गई।

इलेक्ट्रिक शॉक लगा कर युवक को किया टॉर्चर

पीड़ित राजन सिंह ने आरोप लगाया जबरन उसके ऊपर पुलिस दबाव बना रही थी कि छिनैती की घटना को कबूल कर लो नहीं तो तुम्हें जान से मार देंगे। तो उसने ऐसा करने से मना कर दिया तो थाने में उसकी पिटाई करने के बाद क्राइम ब्रांच के लोग उसे अपने ऑफिस में ले गए और वहां पर उसके साथ जमकर बर्बरता की।

राजन सिंह ने आरोप लगाया कि क्राइम ब्रांच की पुलिस ने उसे इलेक्ट्रिक शॉक दिया और टॉयलेट का गंदा पानी पिलाया इतना ही नहीं संवेदनशील अंगों में डंडा डालने का भी प्रयास किया। दो दिन तक बस्ती पुलिस ने उसके साथ संवेदनहीनता की सारी हदें पार करती रही।

एडिशनल एसपी ने करवाया मुक्त

इस बात की जानकारी जैसे ही एडिशनल एसपी को हुई तो वे क्राइम ब्रांच के दफ्तर में पहुंचे और मौके की नजाकत को समझते हुए पीड़ित युवक राजन सिंह से पूछताछ की और संतुष्ट होने के बाद कहा की तुम निर्दोष हो और तुम यहां से जाओ अपना इलाज कराओ।

फिलहाल गंभीर हालत में पीड़ित युवक राजन सिंह अपना इलाज लखनऊ में करवा रहा है। पीड़ित पुलिस के कहर के बाद काफी डरा सहमा हुआ है। वह बस्ती लौट कर कभी नहीं आना चाहता है क्योंकि उसे लगता है कि या तो बस्ती पुलिस उसे फर्जी मुकदमे में फंसा देगी या फिर उसके साथ इसी तरह फिर से बर्बरता की जाएगी।

जांच के बाद दूसरी पुलिसकर्मियों पर की जाएगी कार्रवाई

इस पूरे मामले को लेकर एडिशनल एसपी रविंद्र कुमार सिंह ने कहा कि जांच कराकर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी। लेकिन जब वह पीड़ित युवक राजन से खुद बात किए थे तो उसने ऐसा कुछ उनसे नहीं बताया था कि पुलिस ने उसके साथ दुर्व्यवहार किया है। फिलहाल शिकायत से की जाती है तो उस पर कार्रवाई करेंगे। News live







Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit...