the jharokha news

उत्तर प्रदेश

Ghazipur News: मरदह में बड़ा हादसा, दो मोटरसाइकिलों की टक्कर में भाई की मौत, बहन की हालत गंभीर

Azamgarh: Roadways bus fell into a ditch after a truck collided, one passenger died, 14 injured

मरदह(Ghazipur)। गाजीपुर-मऊ फोरलेन पर दो मोटरसाइकिलों में टक्कर में भाई की मौत हो गई जबिक, बहन सहित तीन अन्य लोगों की हालत गंभीर बताई जा रही है। यह घटना मरदह थाना क्षेत्र के हैदरगंजी चट्टी के पास मंगलवार को हुआ । बताया जा रहा है दोनों मोटरसाइकिलों की हुई आमने सामने की भिड़ंत में दोनो के परखचे उड़ गए। मऊ पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इधर घायलों का उपचार मऊ के अस्पताल में चल रहा है।

मृतक की पहचान सत्यम विश्वकर्मा के रूप में हुई है। जबकि, घायलों की पहचान सत्यम की बहन सलोनी उर्फ बॉबी, नागेश्वर राजभर और विश्वनाथ यादव के रूप में हुई है। बताया जा रहा है कि मौके पर मैजूद लोगों ने सभी मऊ के एक अस्पताल में दाखिल करवया जहां सत्यम की मौत हो गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने सत्यम के शव का पोस्ट मार्टम करवा कर परिजनों को सौंप दिया।

यह है मामला

बताया जा रहा है कि मटेंहू गांव निवासी नागेश्वर राजभर मित्र विश्वनाथ यादव के साथ बाइक से घर से मरदह के तरफ किसी कार्य से जा रहे थे। इसी दौरान मरदह की तरफ से मऊ जिले के शहर कोतवाली क्षेत्र के हकीतपुरा मुहल्ला निवासी सत्यम विश्वकर्मा की बाइक में आमने-सामने भिड़ंत हो गई। हादसे में घायल सत्यम विश्वकर्मा और पीछे बैठी बहन सलोनी उर्फ बॉबी (12) गंभीर रूप से घायल हो गई। चारों घायलों को उपचार के लिए पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से मऊ स्थित अस्पताल भेज दिया। जहां इलाज के दौरान सत्यम विश्वकर्मा की मौत हो गई, जबकि तीनों का इलाज चल रहा है।

किशोरों के हाथ में न दें मोटरसाइकिलों की चाबियां

यातायात पुलिस लोगों को लगातार जागरूक कर रही है कि किशोरों को वाहन चालने के लिए न दें। वाहन चलाते समय हेलमेट पहने और हादसों से बचें, लेकिन लोग यातायात पुलिस के इस सुझाव को नजर अंजाद कर हादसे शिकार हो रहे हैं और असयम ही मौत के मुंह में समा जा रहे है। इस हादस में भी यही हुआ। मोटरसाइकिल चाने वाले दोनों बच्चे मटेंहू गांव निवासी नागेश्वर राजभर मित्र विश्वनाथ यादव 14 और 16 साल के थे। जबकि हादसे में मरने वाले की उम्र 24 साल और उसकी घायल बहन की उम्र 12 साल बताई जा रही है। हादसे का शिकार हुए इन चारों में से किसी ने भी हेलमेट नहीं पहली हुई थी।







Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit...