the jharokha news

जौनपुर का युवक लुधियाना में बच्‍चों का अपहरण कर मंगवाता था भीख


चंड़ीगढ़ – पंजाब की लुधियाना पुलिस ने एक ऐसे व्‍यक्ति को गिरफ्तार किया है जो बच्‍चों का अपहरण कर उनसे भीख मंगवाता था। पुलिस ने उसके पास से दो बच्‍चों को मुक्‍त करवाया है। बताया जा रहा है कि यह शातिर बच्‍चों से खुद को पापा कहलवाता था, ताकि किसी को उसपर शक न हो।

पुलिस के मुताबिक भीख मंगवाने के अलावा यह उनसे कूड़ा बिनवाता था। बताया जा रहा है कि यह शातिर व्‍यक्ति अब तक छह मासूमों को अगवा कर चुका है। लेकिन, इनमें से तीन बच्‍चे खुद ही इसकी गिरफ्त से फरार हो चुके हैं।

इस संबंध में संयुक्‍त पुलिस कमिश्‍नर कंवरदीप कौर ने बताया कि आरोपित की पहचान लुधियना के शेरपुर फुटपाथ पर रहने वाले कृष्णा के रूप में हुई। उन्‍होंने बताया कि पूछताछ ने कृष्‍णा ने बताया कि वह मूल रूप से यूपी के जौनपुर का रहने वाला है।

उन्‍होंने बताया कि थाना जमालपुर पुलिस ने भामियां खुर्द सोनू कुमार की शिकायत पर 12 अक्टूबर को बच्‍चे की गुमशूदगी का एक केस दर्ज किया था। सोनू ने अपनी शिकायत में बताया था कि 11 अक्टूबर को घर के बाहर गली में खेल रहा उसका चार वर्षीय बेटा मुनीश अचानक लापता हो गया। इसके बाद पुलिस की टीम बच्चे की तलाश में जुटी हुई थी। सोमवार उन्हें तब सफलता मिली, जब उन लोगों ने शेरपुर मार्केट आरोपित को काबू कर लिया। उसके कब्जे से मुनीश और गोलू नाम का बच्चा मिला।

संयुक्‍त पुलिस कमिश्‍नर ने बताया कि जब तफतीश शुरू की गई तो पता चला कि थाना फोकल प्वाइंट पुलिस ने 13 अक्टूबर को गोलू और विकास की गुमशूदगी का केस दर्ज कर रखा है। उन्‍होंने बताया कि पूछताछ में कृष्णा ने बताया उसी ने ही दोनों बच्चों को अगवा किया था।

यह भी पढ़े   विधायक तलवाड़ व पार्षद भाटिया ने नं: वार्ड 18 में इंटर लॉकिंग टाइलें लगाने के काम का किया शुभारंभ

बताया जा रहा है कि इसी साल 22 सितंबर को फोकल प्वाइंट से विक्रम गायब हुआ, लेकिन उसने कृष्णा को चकमा देकर अपने माता पिता के पास वापस आ गया था। इसी तरह पिछले साल 6 दिसंबर 2019 को सूरज कुमार और करण भी गुम हो गए थे। मगर दोनों बच्चे भी कृष्‍णा के चंगुल से भाग कर अपने घर में पहुंच गए थे।

थाना प्रभारी हरजिंदर सिंह ने बताया कि आरोपित बेहद शातिर किस्म का अपराधी है। वो रिक्शा रेहड़ा पर पटाखे रख कर विभिन्ना मोहल्लों में घूमता था। अकेले खेल रहे बच्चे को मिट्ठी बातों में उलझा कर पटाखे दिलाने का लालच देकर रिक्शा रेहड़ा पर बैठा लेता।

फिर वो उनसे भीख मंगवाता, बोरा देकर कबाड़ बीनने का काम कराता था। पुलिस के मुताबिक भीख न मांगने पर वह बच्‍चों की पिटाई करता था और उन्‍हें भूखे रख कर प्रताडि़त करता था। जान से मारने की धमकी भी देता था। जिससे डर कर बच्‍चे भीख मांगते थे।





Read Previous

एक ऐसा राजा जिसने कभी किसी को मृत्‍यु दंड नहीं दिया

Read Next

यूपी में नहीं थम रहा रहा लड़कियों पर जुर्म युवती को बंधक बनाकर किया दुष्कर्म

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *