the jharokha news

बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर की हत्या


लखनऊ के विभूति खंड में मऊ के पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। इस वारदात में एक डिलीवरी हुआ सहित कई अन्य लोगों को भी गोलियां लगी हैं, जिनका लोहिया अस्पताल में इलाज करवाया जा रहा है । बताया जा रहा है कि अजीत सिंह पर करीब 18 मामले दर्ज थे जिनमें हत्या के 5 केस भी शामिल है ।

पहले पुलिस कमिश्नर सुधीर पांडे के हटाए जाने के बाद डीके ठाकुर को लखनऊ का पुलिस कमिश्नर बनाया गया था, लेकिन पुलिस कमिश्नर का चार्ज संभालते ही राजधानी में अपराधियों ने पुलिस के नाक के नीचे तांडव शुरू कर दिया डीके ठाकुर ने जब लखनऊ का चार्ज संभाला उसके बाद से हत्या लूट डकैती की घटनाएं दिन पर दिन बढ़ती जा रही हैं ।। लेकिन डीके ठाकुर तो डीके ठाकुर ठहरे जिनकी नजरों में हत्या लूट डकैती की घटनाएं आम है। ताजा मामला लखनऊ के थाना विभूति खंड क्षेत्र के कठौता चौराहे का है।

जहां पर पहले से घात लगाय बाइक सवार बदमाशों ने पूर्व ब्लाक प्रमुख के ऊपर दर्जनों राउंड फायर करके बेखौफ बदमाश पुलिस को खुली चनौती दे मौके से फरार हो गए | गोली लगने से ब्लॉक प्रमुख की मौके पर ही मौत होगई साथ मौके पर साथ मे पूर्व ब्लाक प्रमुख के साथ मौजूद साथ गंभीर रूप से घायल हो गया,साथ ही वही फायरिंग के दौरान रास्ते से गुजर रहे एक डिलीवरी ब्वॉय मैन को भी गोली लग गई |

सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने पहले घायलो को तुरंत लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया जहाँ घायलो का इलाज चल रहा है| वही पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है| सूचना मिलने पर पुलिस कमिशनर डीके ठाकुर भी लोहिया अस्पताल पहुंच गए| रोपियों की धरपकड़ के लिए नाकाबंदी कर दी गई है| फिरहाल इस हत्या से कमिश्नरेट पुलिस मे हड़कप मचा गया है। इस खुलासे के लिए कमिश्नरेट ने कई टीमे बना जल्द ही हत्या का खुलाशा के प्रयाश मे जुट गई है | 
 
जानकारी के अनुसार लखनऊ के थाना विभूतिखण्ड क्षेत्र के कठौता झील का है. जहां शाम करीब साढ़े आठ बजे विभूति खंड की चौकी की चाँद कदम दुरी पर पहले से गात लगाय बैठे बाइक सवार बदमाशों ने सड़क पर खुले आम पूर्व ब्लाक प्रमुख अजित सिंह पर फायरिंग करना सुरु कर दिया| गोली लगने से अजित सिंह सड़क पर गिर गए | जिसके बाद पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह और उसके साथी मोहर सिंह ने अपने आप को बचने के लिय बदमाशो पर फायरिंग की| इस दौरान अजीत सिंह की गोली लगने से मौके पर ही मौत हो गई, जबकि उसका साथी मोहर सिंह घायल हो गया. फायरिंग की घटना के दौरान राहगीर आकाश के पैर में गोली लग गई. सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने सभी को लोहिया अस्पताल पहुंचाया गया जहाँ डाक्टर घायलों का इलाज कररहे है|  

जानकारी के अनुसार लखनऊ के विभूति खंड थाना क्षेत्र के कठौता चौराहे पर बेखौफ बदमाशों ने दर्जनों राउंड फायर किए हैं जिसमें से 3 लोगों को गोली लगी है एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई गोलीकांड की इस घटना में मरने वाले मऊ जनपद के पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह बताए जा रहे हैं । वहीं उनका साथ ही गंभीर रूप से घायल है जिसको लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है लेकिन सबसे हैरानी वाली बात यह है कि सरेआम इस तरीके की घटना को अंजाम देकर बदमाश फरार हो जाते हैं और पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी रहती है।

सीपी का संवेदनहीन बयान, कहा गोलीकांड जैसी घटनाएं आम है

हर बार की तरह इस बार भी लखनऊ के पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर का कहना है कि गोलीकांड जैसी घटनाएं आम है। ऐसे में जनता का प्रतिनिधित्व करने वाले मऊ जनपद के ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की सरेरा गोली मारकर हत्या कर दी जाती है और कमिश्नर डीके ठाकुर के ऊपर कोई फर्क नहीं पड़ता है

हैरानी वाली बात यह है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ और गाजियाबाद में पुलिस कमिश्नर ई इसलिए लागू की थी ताकि अपराध और अपराधियों के ऊपर नियंत्रण किया जा सके उसके बावजूद अपराधियों के आगे लखनऊ में पुलिस कमिश्नरेट नतमस्तक नजर आती है , जिसका कारण है कि पुलिस के आला अधिकारी हैं जिनके कंधों पर बड़ी जिम्मेदारी है जब वह खुद कहते हैं

कि गोलीकांड जैसी घटनाएं आम हैं। ऐसे में पुलिस से क्या उम्मीद की जाए हालांकि मामले को मेहनत करने के लिए घटनास्थल पर लखनऊ के पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर के साथ ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर अपराध नीलाब्जा चौधरी मौके पर पहुंचे हैं फिलहाल देखने वाली बात यह होगी कि दर्जनों राउंड फायर करने वाले अपराधियों को पुलिस कब गिरफ्तार कर पाती है| 

पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह पर हत्या के पांच मामलों सहित 18 से अधिक मामले दर्ज थे

-वही मौके पर पहुंचे कमिशनर डीके ठाकुर ने बताया कि अजीत सिंह मूल रूप से मऊ का रहने वाला था| अजीत सिंह पर 18 से अधिक मुकदमे दर्ज है जिसमें 5 मुकदमे हत्या के हैं. अजीत सिंह को 31 दिसम्बर को जिला मजिस्ट्रेट के आदेश पर जिलाबदर किया गया था. जिसके बाद से वह राजधानी में रह रहा था. डीके ठाकुर ने बताया अन्य जानकारी के लिए मऊ क्षेत्र से जानकारी जुटाई जा रही है|  जिसके बाद ही गैंगवार के कारणों का पता लग सकेगा| 

पूर्वांचल में बढ़ सकती हैं गैंगवार की घटनाएं भी

सूत्रों के मुताबिक अभी तक जो खबर सामने आ रही है उसमें यह कहा जा रहा है कि पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की हत्या के बाद पूर्वांचल समेत राजधानी में गैंगवार की घटना भी सामने आ सकती है कि अजीत सिंह लगातार जनता के बीच में रहकर उनकी समस्या का निदान करने के लिए जाने जाते थे लेकिन पुलिस की सुस्ती और तंदुरुस्ती का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि राजधानी में बेखौफ बदमाशों ने दर्जनों राउंड फायर किए और ब्लॉक प्रमुख को मौत के घाट उतार कर फरार हो गए और डीके ठाकुर हर दिन किसी ना किसी थाने का निरीक्षण करते हैं उसके बावजूद भी अगर इस तरीके की घटनाएं सामने आ रही हैं तो पुलिस कमिश्नर की कार्यप्रणाली पर सवाल उठना लाजमी है ऐसे में आम जनता के मन में भय का माहौल बन गया है ।

बाइक सवार बदमाशों ने गोली मारकर की हत्या

Start at 0:00


Read Previous

गाजीपुर बेसिक शिक्षा अधिकारी की बड़ी कार्यवाई,प्रधानाध्यापक समेत तीन निलंबित

Read Next

मुरादाबाद में तमंचे के बल पर युवती से दुष्कर्म कर छत से नीचे फेंका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x
error: Content is protected !!