the jharokha news

मऊ वासियों के लिए अच्छी खबर , 7000 लोगों को लगाए जाएंगे कोरोना के टीके

मऊ वासियों के लिए अच्छी खबर , 7000 लोगों को लगाए जाएंगे कोरोना के टीके

आठ दिसम्बर को जिले को मिलेगी कोरोना वैक्सीन रखने की आधुनिक आईएलआर मशीने

  • ‘को-विन’ सॉफ्टवेयर की बहुत बड़ी भूमिका रहेगी पारदर्शिता पूर्वक टीकाकरण में
    *‘को-विन’ पोर्टल के माध्यम से होगा वैक्सीनेशन, एसएमएस से मिलेंगी सभी सूचना

मऊ । कोरोना संक्रमण से जूझ रहे है उत्तर प्रदेश के मऊ वासियों के लिए एक अच्छी खबर है। यदि स्वास्थ्य विभाग की माने तो जल्द ही मऊ जनपद के लोगों को कोरोना की वैक्सीन मिलने जा रही है । हेल्थ डिपार्टमेंट के अधिकारियों के मुताबिक पहले चरण में जनपद के 7000 लोगों को टीकाकरण किए जाने का लक्ष्य है।

अधिकारियों की मानें तो कोरोना की वैक्सीन आने से पहले स्वास्थ्य विभाग उसके रखरखाव आदि की व्यवस्था में पूरी तरह से जुट गया है । इसके साथ ही यह तैयारी जरूर कर ली है कि जब भी वैक्सीन उपलब्ध होगी तो सबसे पहले उसे किसे लगाया जाएगा । शासन की मंशा के अनुरुप सबसे पहले जनपद के सरकारी और निजी क्षेत्र के लगभग सात हजार स्वास्थ्य कर्मियों को यह टीका लगाया जायेगा l

तैयारियों की जा रही है समीक्षा बैठक

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सतीशचन्द्र सिंह ने बताया कि इसको लेकर स्वास्थ्य विभाग के साथ जिले के आला अधिकारियों द्वारा तैयारियों की लगातार समीक्षा बैठक की जा रही है l कोरोना के टीकाकरण के लिए जिले के करीब 749 कर्मचारियों को स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों द्वारा ऑनलाइन ट्रेनिंग दे दी गयी है

l वैक्सीन की मात्रा का निर्धारण ‘कितना’ और ‘कितनी बार’ की गाइडलाइन अभी नहीं निर्धारित है जो टीका आने के साथ ही पूरी जानकारी प्राप्त होगी l इलेक्ट्रॉनिक वैक्सीन इंटेलीजेंस नेटवर्क (ई-विन) की तरह से विन ओवर कोविड ‘को-विन’ (कोरोना पर जीत) पोर्टल कार्य करेगा।

सीएमओ ने बताया कि जैसे ई-विन पोर्टल के माध्यम से रियल टाइम वैक्सीन की वास्तविक स्थिति एवं खपत और तापमान की स्थिति पता चलती है, ठीक उसी प्रकार से को-विन पोर्टल से वैक्सीन और लॉजिस्टिक, सत्र स्थल, वैक्सीनेटर और लाभार्थी की सूचना मिलेगी।

वैक्सीनेशन के लिए मोबाइल पर दी जाएगी सूचना

‘को-विन’ पोर्टल के माध्यम से रजिस्टर्ड लाभार्थी को वैक्सीनेशन सम्बन्धी समस्त सूचना उनके मोबाइल पर मैसेज के द्वारा प्राप्त होगी जैसे स्थान,समय,दिनांक, सत्र स्थल,और कौन वैक्सीनेटर है। उन्होंने बताया कि कोरोना का टीकाकरण चरणबद्ध तरीके से कैसे होग, इसकी सभी प्रकार की रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग ने तैयार करके सरकार को भेज दी है।

टीकाकरण के लिए 1351 लोग किए गए सूचीबद्ध

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी व अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी नोडल अधिकारी डॉ आरके झा ने बताया कि राजकीय क्षेत्र से 6856 (13/13) निजी क्षेत्र से 1351 (50/50) लोगों को शुरूवाती प्रथम चरण के टीकाकरण के लिये सूचीबद्ध किया गया है।

8 दिसंबर को मिल जाएगा आइस लिंक्ड रेफ्रीजरेटर

जिला कोल्ड चेन मैनेजर कामाख्या मौर्य ने बताया कि केंद्र द्वारा यूपी सरकार को कोरोना वेक्सीन रखने के लिये आधुनिक मशीने आईएलआर उपलब्ध कराई गई है, जो आठ दिसंबर को जिले को प्राप्त हो जायेगी। आईस लिंक्ड रेफ्रीजरेटर (आईएलआर) 40 लीटर से शुरू होकर 110 ली. तक की होती है, जो की जनसंख्या के हिसाब से दिया जाता है।

वैक्सीन कोल्ड चेन प्वाइंट पर वैक्सीन के स्टाक की मात्रा एवं भंडारण फ्रिज रियल टाइम तापमान की ऑनलाइन निगरानी ‘को-विन’ (विन ओवर कोविड) प्रोग्राम के अंतर्गत मोबाइल ऐप एवं बेब पोर्टल से की जाएगी, इसके लिए जिले के प्रत्येक कोल्ड चेन पर रखे आईएलआर में रखे टेंपरेचर लागर नाम की एक सेंसर युक्त डिवाइस स्थापित की गई है। यह डिवाइस नेट के माध्यम से वेब पोर्टल से जुड़ी रहेगी। more news

Read Previous

मौत को दावत दे रहा,नवनिर्मित गढ्ढा युक्त सड़क

Read Next

नक्सली और सीआरपीएफ जवानों के बीच भारी मुठभेड़ हथियार छोड़ भागे नक्सली

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!