the jharokha news

उत्तर प्रदेश

Ghazipur news: गाजीपुर एलकेम कंपनी के सेल्स रिप्रेजेंटेटिव संजय कुमार के द्वारा भयंकर घोटाला कंपनी के इनपुट एवं स्टेट जी को खंगाला

Ghazipur news, रामाशीष राम की रिपोर्ट, गाजीपुर :स्थानीय जिले के अंतर्गत एक दवा प्रतिनिधि के द्वारा पुरानी कंपनी में डॉक्टर को दिए जाने के लिए काजू सहित तमाम प्रकार के गिफ्ट इनपुट आए हुए थे वरिष्ठ मेडिकल रिप्रेजेंटेटिव संजय कुमार ने कंपनी के साथ चीटिंग करते हुए डॉक्टरों के सारे सामान को गमन कर दिया कंपनी के प्रबंधक जब गाजीपुर चलकर आए तो संजय राय के बैग में कंपनी का लिटरेचर था |

इस पर प्रबंधक ने भड़क गया और वरिष्ठ रिप्रेजेंटेटिव को भला बुरा कहने लगा इन सब से लाचार होकर दवा प्रतिनिधि ने इस बात को विनय फार्मा स्थित दुकान पर जाकर अपनी समस्या को बताएं वहां पहले से मौजूद सैकड़ों की संख्या में दवा प्रतिनिधियों ने जब इस बात का पुष्टि किया तो दवा प्रतिनिधियों में भगदड़ मच गया वरिष्ठ वरिष्ठ दवा प्रतिनिधि को बचाने के लिए साम दाम दंड भेद लगाकर किसी प्रकार से जान माल एवं उनकी नौकरी को सुरक्षित करने का उपाय सोचा गया|

सूत्रों द्वारा पता चला कि श्री राय पहले से कंपनी के साथ भयंकर गद्दारी करते थे कंपनी के स्टेट जी को बैग में झूले में भरकर बड़े-बड़े दलालों को बेच देते थे इससे मोटी रकम जो प्राप्त होती थी उसे आजा कई शहरों में जमीन तथा मकान खरीदे हैं श्री राय का अगर सही तरीके से जांच करा दी जाए तो करोड़ों रुपए का ब्लैक मनी तथा लाखों रुपए के आसपास ज्वेलरी मिल जाएगी यह पैसा यह पैसा कमाने का जरिया कंपनी के साथ तथा अपने जनपद के प्रसिद्ध डॉक्टरों के नाम से फर्जी रूप से उनका पैड लगाकर उनके नाम पर महंगी महंगी गिफ्ट तथा आने जाने का किराया भी उपलब्ध करा लेते थे

कौन से संजय राय कहां के रहने वाले हैं

संजय कुमार राय बिहार राज्य के जहानाबाद जिले के अंतर्गत किसी छोटे से गांव के रहने वाले हैं भागलपुर में इनकी खरबों रुपए की अचल संपत्ति है तथा इनकी कोठी की अनुमान आज तक कोई लगा नहीं सका है लगभग गाजीपुर में 18 वर्ष से रह कर वेलकम कंपनी में दवा प्रतिनिधि का काम करते हैं वेलकम कंपनी एक ऐसी कंपनी है |

जो डॉक्टरों को मोटी रकम देने का काम करती है जिसमें और एम्पलाई को अच्छी खासी कमाई हो जाती है इसी का फायदा उठाते हुए श्री राय गाजीपुर के अच्छे-अच्छे डॉक्टरों के नाम पर मोटी गाढ़ी कमाई किए किए हुए हैं इनसे कुछ डॉक्टर भी परेशान हैं जो अपनी इमानदार छवि को धूमिल हो होते हुए देख उनकी खोजबीन कर रहे हैं |







Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit...