the jharokha news

ब्राह्मण स्वयंसेवक संघ के प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक

ब्राह्मण स्वयंसेवक संघ के प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक लखनऊ जिला कार्यालय अर्जुनगंज अहमामऊ मैं संपन्न हुई बैठक की शुरूआत भगवान श्री परशुराम के चित्र पर पुष्प अर्पण आरती एवं दीप जलाकर संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित श्रीनाथ पांडे राष्ट्रीय संयोजक पंडित अरविंद तिवारी राष्ट्रीय महासचिव विजय तिवारी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमाशंकर त्रिपाठी राष्ट्रीय सचिव बब्बन उपाध्याय प्रदेश अध्यक्ष पंडित अनूप पांडे प्रदेश महासचिव राजेश कुमार मिश्र राज दीपक तिवारी अवनीश पांडे सौरभ अग्निहोत्री विमल पांडे आदि के द्वारा किया गया |

तत्पश्चात पंडित राज दीपक तिवारी एवं अन्य ब्राह्मण बंधुओं द्वारा स्तुति वाचन एवं भगवान की आरती किया गया कार्यकारिणी की बैठक तीन सत्रों में संपादित हुई प्रथम सत्र की शुरुआत कार्यक्रम के आयोजक वेद प्रकाश त्रिपाठी द्वारा स्वागत संबोधन से किया गया प्रथम सत्र में उपस्थित पदाधिकारियों के विचार लिए गए |

दूसरे सत्र की शुरुआत संगठन के राष्ट्रीय महासचिव पंडित विजय तिवारी के द्वारा प्रश्नोत्तर के माध्यम से किया गया दूसरे सत्र में प्रदेश संगठन मंत्री सौरभ अग्निहोत्री प्रदेश महासचिव राजेश कुमार मिश्र प्रदेश अध्यक्ष अनूप पांडे प्रदेश के संरक्षक विमल पांडे कार्यकारी अध्यक्ष राम जीवन पांडे पूर्वांचल प्रभारी रूपेश राज पांडे आदि ने सहभागिता निभाई कार्यक्रम के तीसरे सत्र में परशुराम सेना के राष्ट्रीय महासचिव पंडित अजीत कुमार पांडे राष्ट्रीय संयोजक अरविंद तिवारी राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमाशंकर त्रिपाठी आदि के उद्बोधन से प्रारंभ हुआ |

कार्यकारिणी को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री नाथ पांडे ने कहा कि ब्राह्मण स्वयंसेवक संघ एक गैर राजनीतिक संगठन है संगठन का उद्देश्य एक संस्कारवान विचारवान एवं आदर्श समाज की स्थापना है संगठन अपने स्थापना काल से ही ब्राह्मण समाज के आर्थिक सामाजिक एवं चारित्रिक रूप से विकास के क्षेत्र में कार्य कर रहा है राष्ट्रीय महासचिव पंडित विजय तिवारी ने संगठन के नीतियों उद्देश्य पर प्रकाश डाला कार्यकारिणी बैठक के तीनों सत्र का संचालन प्रदेश महासचिव पंडित राजेश कुमार ने किया बैठक में हरिओम तिवारी अरुण अवस्थी ओमप्रकाश तिवारी वासुदेव तिवारी सुधाकर मिश्र आदित्य त्रिपाठी अजय पांडे भावना मिश्रा लक्ष्मीकांत मिश्र सहित तमाम पदाधिकारी उपस्थित रहे







Read Previous

बच्चियों व महिलाओं के लिए दहशतपूर्ण माहौल कल भी, आज भी

Read Next

जन्मे कन्हाई, मथुरा बना अमृतसर, उमड़े श्रद्धालु

Leave a Reply

Your email address will not be published.