the jharokha news

पुलिस के हीलाहवाली के चलते महिला पत्रकार नीतू आत्महत्या कांड में क्या नही मिलेगा इंसाफ

पुलिस के हीलाहवाली के चलते महिला पत्रकार नीतू आत्महत्या कांड में क्या नही मिलेगा इंसाफ

विजय मिश्रा:  उत्तर प्रदेश कि राजधानी लखनऊ शहर के थाना जानकीपुरम में महिला पत्रकार नीतू आत्महत्या कांड में एक नया मोड़ आ गया है जो आप जानकर आश्चर्य हो जाएंगे कि स्मार्ट कही जाने वाली पुलिस के हाथ महिला पत्रकार नीतू को आत्महत्या के लिए टेलीफोन से प्रेरित करने वाली महिल दो माह बीत जाने के बाद भी थाना जानकीपुरम पुलिस के हाथ नही आई ।

जी हा आपको बताते चलते है कि यह मामला एक महिला पत्रकार के आत्महत्या से जुड़ा हुआ है इस लिए इस मामले का जानकीपुरम पुलिस को खुलासा करने में समय लग रहा है अगर यही मामला किस नेता यह मंत्री के घर का होता तो पुलिस अपनी वर्दी बचने के लिए सात परत धरती के नीचे से भी टेलीफोन पर प्रेरित करने वाली महिला को निकल कर खुलासा कर देती। पर क्या किया जाए यह मामला पत्रकार का है तो कोई क्या करे।

हमारी मीडिया टीम ने महिला पत्रकार नीतू आत्महत्या कांड की जानकारी जुटाने के लिए जिला श्रावस्ती मृतका के घर जा पहुँची तो परिजनों से मुलाकात हुआ तो परिजनो ने पूरी घटना की जानकारी दी।

मृतका कि माता सीमा देवी ने बताया कि मेरी बेटी नीतू राना एक पत्रकार थी और लखनऊ में एक हिंदी समाचार पत्र में कार्यरत थी और उसने अपनी मर्जी से प्रेम-प्रसंग में लखनऊ का रहने वाला युवक अर्शद से शादी कर लिया था और वो दोनों एक दूसरे से बहुत मोहब्बत करते थे अर्शद से मेरी बेटी से एक पुत्र भी जन्मा है और मेरी बेटी बहुत खुशहाली से अपना जीवन यापन कर रही थी जिससे मैं भी बहुत खुश थी।

जुलाई 2021 में हमारी बिटिया और दामाद मिलने आए थे तो दामाद जी वापस लखनऊ चले गए और बेटी और लगभग तीन माह के नाती को हम लोगो ने रोक लिए क्योंकि काफी दूर का सफर होने के कारण जल्दी आना-जाना नही हो पाता था कुछ दिन बीतने के बाद एक अज्ञात महिला ने मेरे बेटी के मोबाईल फोन पर फोन करके गालिया देने लगी तो बेटी रोती हुई मेरे पास आकर बोली मम्मी देखो कोई महिला मुझे गली दे रही है और मैं इसको जानती तक नही हु कोई रिश्तेदार तो नही है जो इतना गंदा मजाक कर रही है।

माँ ने फोन लेकर उससे बात किया की तुम कौन बोल रही हो और क्यों गाली दे रही हो तो उसने माँ को गाली देकर फोन कट कर दिया। फिर कुछ दिन बीत जाने के बाद उसी फोन नम्बर से अज्ञात महिला ने फोन करके प्रेरित करना शुरू कर दिया जिसके चलते मेरी बेटी रोती और सर में दर्द बताती और उल्टी होना शुरु हो जाता था ।

इस तरह के अशब्दो के कारण महिला पत्रकार नीतू बहुत परेशान से रहती थी और आत्महत्या करने से एक दिन पहले उसने अपनी छोटी बहन पिंकी से इस मामले को लेकर बात-चीत किया था।

फिर इस मामले कि जानकारी जुटाने के लिए मृतका की छोटी बहन पिंकी से मुलाकात किया गया तो उसने बताया कि मेरी दीदी ने मुझे एक दिन पहले इस मामले के बारे में फोन पर बताया कि मेरे फोन पर कोई अनजान महिला फोन करके गाली व अशब्दो का प्रयोग कर रही है जिससे मुझे बहुत घुसा आता है मैं क्या करूँ, आपके जीजू जानेंगे तो वो क्यों समझेंगे। उस अज्ञात महिला को जानती तक नही हु न तो कोई लेना देना है मुझे बहुत गुस्सा आ जाता है क्योंकि वो बहुत गलत बोलती है मैं कुछ कर लुंगी।

महिला पत्रकार नीतू ने इस मामले कि शिकायत महिला हेल्फ़ लाइन 1090 पर भी 26 जुलाई 2021 को दर्ज कराया था पर अज्ञात फोन करने वाली महिला प्रेरित करना नही बंद किया जिसकी वजह से महिला पत्रकार नीतू आत्महत्या कर लिया है जिसकी विवेचना थाना जानकीपुरम में तैनात दरोगा इमरान खान द्वारा किया जा रहा है पर अभी तक महिला पत्रकार नीतू को प्रेरित करके आत्महत्या को मजबूर करने वाली अज्ञात महिला व फोन नम्बर तक पहुँचने में जानकीपुरम पुलिस नाकाम साबित हो रही है। क्रम सo

Start at 0:00


Read Previous

Ram राम भी थे Rawan रावण के कायल, जानें क्या थी वह अच्छाइयां

Read Next

बिल्लौचपुरा चौराहा इमरान कुरैशी के यहा हुई पीस कमेटी की मीटिंग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x
error: Content is protected !!