the jharokha news

देश दुनिया

जननायक थे क्रांतिकारी बिरसा मुंडा

शहडोल ब्यौहारी (मध्‍य प्रदेश) से दुर्गेश गुप्ता की रिपोर्ट । जनजातीय गौरव दिवस पर गांव पपौंध में क्रांतिकारी बिरसा मुंडा की 145वीं जयंती मनाई गई। पंचायत भवन में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्यातिथ के रूप में रामबिसाल कोल, अध्यक्ष दादू राम कोल, सरपंच पपौंध उन्जी बाई कोल, पूर्व सरपंच विन्धेश्‍वरी चतुर्वेदी कार्यक्रम में मौजूद रहे।

दीवाली अहीर नृत्‍य से बांधा समां

क्रांतिकारी बिरसा मुंडा जी के जयंती अवसर पर छत्तीसगढ़ी लोक नृत्य, आदिवासी लोक नृत्य, दीवाली अहीर नृत्य, झांकी एवं विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए गए।

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि

राम विसाल कोल संबोधित करते हुए कहा कि भारतीय कला संस्कृति को जीवंत रखने में जनजाति समाज की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। सामाजिक समरसता के साथ जनजाति समाज के उत्थान एवं विकास के लिए कार्य करना होगा।

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता पूर्व सरपंच विन्धेस्वरी चतुर्वेदी ने कहाकि देश में षड्यंत्रकारी ताकतें समाज को तोड़ने का कुत्सित प्रयास कर रहीं है, और जनजाति समाज के लोगों को बिखेरकर राष्ट्र को खंडित करने की नीतियां संचालित हो रही है। इसलिए हर समाज के हर वर्ग को साथ मिलकर भारत मां को परम वैभव तक पहुंचाने का ध्येय बनाकर आगे बढ़ना होगा ।

युवा अंकीत शर्मा अंकु ने बिरसा मुंडा जी के त्याग व समर्पण को स्मरण करते हुए कहाकि जनजाति समाज को समाज की मुख्यधारा से जोड़ने बिरसा मुंडा ने सराहनीय पहल की ऐसे जननायक के त्याग व बलिदान को कभी नहीं भुलाया जा सकता ।

बिरसा मुंडा ने समाज को एकसूत्र में पिरोया था

भाजपा नेता श्यामपाल तिवारी सेम्पु ने कहा कि- समाज को एकता के सूत्र में पिरोने, साहसिक प्रयास जननायक बिरसा मुंडा ने किया और जनजाति समाज के उत्थान के लिए संघर्ष किए और ऐसे महान विभूति के पद चिन्हों पर चलना समाज का परम दायित्व है। कार्यक्रम का सफल संचालन बीपी साकेत एवं सुनील साकेत द्वारा किया गया।

कार्यक्रम मे मुख्य रूप से उपस्थित रहे

अठठू कोल , बुद्धसेन बन्सल दीना कोल ,रामु कोल , तेजा बाई , लीला बाई ,गिरजा बाई , रमुनिया बाई कोल जिसमे भाजपा कार्य कर्ता भी सामील रहे – पुश्पेन्द्र तिवारी गुड्डा , श्यामपाल तिवारी , अंकित शर्मा अंकु, बंदू तिवारी, शुभम सोनी , अंशूमान त्रिपाठी , भोली गुप्ता, पप्पू सोनी, सुरेंद्र विस्वकर्मा , सुदामा विस्वकर्मा, पिंटू, रामादीन कोल एवं सभी छेत्र वाशी उपास्थित रहे।

हमारे Facebook पेज को अभी लाइक और फॉलों करें @thejharokhanews

Twitter पर फॉलो करने के लिए @jharokhathe पर क्लिक करें।

हमारे Youtube चैनल को अभी सब्सक्राइब करें www.youtube.com/channel/UCZOnljvR5V164hZC_n5egfg







Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit...