the jharokha news

मलबे में बदला मुख्तार का आशियाना, देखते रह गए अब्बास व उमर

  • एलडीए की जमीन पर अतिक्रमण कर मुख्तार के दोनों बेटों के नाम से बने थे टावर
    अब्बास और उमर अंसारी के नाम से बनाए गए थे दोनों टावर , एलडीए के अनुसार शत्रु संपत्ति पर कब्जा कर हुआ था अवैध निर्माण

लखनऊ : पूर्वांचल के माफिया व मऊ सदर से विधायक मुख्तार अंसारी पर दिनोंदिन कानून का फंदा कसता जा रहा है । उत्तर प्रदेश सरकार की ताबड़तोड़ कार्रवाई में वीरवार को राजधानी के डाली बाग कॉलोनी स्थित मुख्तार अंसारी के बेटों के नाम से बनी दो बिल्डिंगों को लखनऊ विकास प्राधिकरण एलडीए ने मलबे के ढेर में तब्दील कर दिया। बताया जा रहा है कि यह दोनों बंगले अवैध रूप से शत्रु संपत्ति पर बनाए गए थे।

पिछले सप्ताह जांच के लिए गठित हुई थी टीम

बता दें कि एलडीए प्रशासन ने पिछले सप्ताह एक टीम का गठन कर लखनऊ में मुख्तार अंसारी, उनके परिवार और गुर्गों के नाम अवैध अचल संपत्तियों का जांच कर पता लगाने के आदेश दिए थे। एलडीए की जांच में मुख्तार अंसारी के दोनों बेटों उमर और अब्बास अंसारी के नाम से लखनऊ के डाली बाग में दो बिल्डिंग बताई जा रही हैं जो इनलीगल थी ।

20 से अधिक बुल्डोजर लगे गिराने में

सरकार के आदेश पर हुई इस कार्रवाई में मुख्तार के दोनों बेटों के नाम से बने इस टावर को गिराने के काम में 20 से अधिक जेसीबी मशीनों को लगाया गया था। इस दौरान ढाई सौ से अधिक पुलिस कर्मचारी और लखनऊ विकास प्राधिकरण के मुलाजिम तैनात रहे।

झड़प की भी खबरें

बताया जा रहा है कि जिस समय पुलिस इन दोनों टावरों पर कार्रवाई करने पहुंची उस समय मुख्तार के दोनों बेटों और पुलिस के साथ झड़प भी हुई। कहा जा रहा है कि जिस जगह पर यह बिल्डिंग बनी है वह शत्रु संपत्ति पर कब्जा कर बनाई गई हैं ।

11 अगस्त को जारी हुआ था नोटिस

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 11 अगस्त को दोनों टावरों के मालिकों को नोटिस जारी कर उन्हें गिराने का आदेश दिया था। बताया जा रहा है कि सरकार के आदेश पर बिल्डिंगों भारी संख्या में पुलिस बल पहुंचा और घर का ताला तोड़कर सामानों को बाहर निकाल दोनों बिल्डिंगों को ध्वस्त कर दिया। इस दौरान प्रशासन को भारी विरोध का सामना करना पड़ा।

दो दिन पहले ही 12 गुर्गों को किया था जिला बदर

बता दें कि 2 दिन पहले ही मऊ जिला पुलिस ने मुख्तार के 12 गुणों को जिला बदर करने के साथी प्रदेश लाइसेंस को रद्द कर दिया था।पुलिस कप्तान के मुताबिक माफिया मुख्तार के गुर्गों में शार्प शूटर अनुज कनौजिया, रशीद हाफिज, जावेद आरजू, मोहम्मद तला, अमीर हमजा, मोहम्मद सलमान, जुल्फिकार कुरैशी, तारिक अनीश और पार्षद अल्तमश शामिल है । पुलिस के मुताबिक अनुज कनौजिया पर विभिन्न धाराओं के तहत 19 गंभीर मामले दर्ज हैं।

पंजाब के रोपड़ जेल में बंद है मुख्तार

पूर्वांचल का माफिया डॉन मुख्तार अंसारी मोहाली के एक कारोबारी से रंगदारी मांगने के आरोप में इस समय पिछले 2 साल से पंजाब के ऊपर जिला जेल में बंद है। उसे उस समय बाद आज इनसे यहां पर ही पर लाया गया था तभी से वह रोपड़ की जिला जेल में बंद है।

Read Previous

बच्ची से दुष्कर्म, लोगों ने आरोपित को पीट पीट कर मार डाला

Read Next

वेंटिलेटर पर लवंडा नाच और नौटंकी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!