the jharokha news

9.41 लाख दीपों से सरयू मां के श्रृंगार के साथ बना कीर्तिमान

अयोध्या। बरनत छवि जहं-तहं सब लोगू, अवस देखियत देखन जोगूू। सचमुच पांचवें दीपोत्सव पर बुधवार को रामनगरी का नजारा अलौकिक था। अयोध्या में सरयू का तट रोशनी से नहा उठा। नजारा ऐसा कि जैसे कोई महाकुंभ हो। राम की पैड़ी के 32 घाटों से लेकर, रामलला के मंदिर परिसर सहित पूरी अयोध्या नगरी में एक साथ 12 लाख दीये रोशन हुए तो एक विश्व कीर्तिमान भी गढ़ उठा। इस अद्भुत दृश्य को देखकर लग रहा था कि मानो भगवान श्रीराम और अयोध्या के स्वागत में सितारे भी जमी पर उतर आए हों।

रामकथा पार्क में सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2017 से लेकर 2019 तक इसी दीपोत्सव में लोग नारा लगाते थे योगी जी एक काम करो, मंदिर का निर्माण करो। बिल्कुल मुदित अंदाज में मुख्यमंत्री ने भीड़ से सवाल किया अब बताइये राम मंदिर बन रहा है या नहीं।

पांचवें दीपोत्सव पर राम की पैड़ी के नजारे को देखकर लग रहा था कि मानो भगवान राम के समय में आ गए हों। इस नजारे को सिर्फ अयोध्या ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के करोड़ों रामभक्तों ने भी वर्चुअल तरीके से खुद को इस दीपोत्सव से जोड़ा और त्रेता युग के उस आनंद का अनुभव किया। इस दीपोत्सव में वह सब कुछ था जो राम के वनवास से लौटने पर त्रेता युग में था। पुष्पक विमान से राम का आगमन हुआ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनका राजतिलक किया।

भरत और भाई शत्रुघ्न ने प्रजा के साथ भगवान राम का स्वागत किया। इस दौरान एक हेलीकॉप्टर से लगातार पुष्प वर्षा होती रही। वहां से श्रीराम सुसज्जित रथ से मुख्य कार्यक्रम स्थल रामकथा पार्क पर आते हैं। वैदिक मंत्रोच्चारण और मंगलाचरण के बीच उनका राज्याभिषेक होता है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरयू जी की आरती भी की।

राम की पैड़ी के 32 घाटों पर सरयू जी की आरती के बाद वैदिक मंत्रों के बीच 9 लाख 41 हजार 551 दीयों को रोशन किया गया। इसके पहले साकेत महाविद्यालय से रामकथा पार्क तक रामायण की थीम पर निकली 11 झांकियों ने राम के पूरे चरित्र को जीवंत कर दिया गया था। इस अवसर पर केंद्रीय पर्यटन मंत्री जी किशन रेड्डी, तीन देशों के राजदूत, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या, डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा, प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, प्रदेश के पर्यटन मंत्री नीलकंठ तिवारी समेत कई बड़े चेहरे शामिल रहे। बताया जा रहा है कि कुल 10 हजार अतिथी पहुंचे थे।

 

राम की पैड़ी पर दिखे अद्भुत नजारे
1- 337 फीट की स्क्रीन पर महार्षि वाल्मीकि ने कथा सुनाई।
2- प्रोजेक्शन मैपिंग के जरिए वाल्मीकि जी को मल्टी डायमेंशनल होलोग्राफिक ईमेज अयोध्या की पावन धरा पर अवतरित हुई।
3-लाइट एंड साउंड शो ने दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया।
4- तकरीबन एक करोड़ रुपये के ग्रीन पटाखों की 20 मिनट तक आतिशबाजी चली।
5- लेजर शो देख सब खुशी से झूम उठे।

कब-कब कितने दीये जले
2017 187213
2018 301152
2019 404026
2020 606569
2021 941551




Read Previous

डीएपी खाद को मारा मारी, किसान परेशान

Read Next

योगी आदित्यनाथ की तरह फरियादियों की फरियाद सुनते हैं राजकुमार सिंह झाबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

x
error: Content is protected !!