अलगाववादियों ने प्रबंधकीय कांप्‍लेक्‍स में फहराया खालिस्‍तानी झंडा, प्रशासन के कान खड़े

0


मोगा : पंजाब के मोगा जिले में स्‍वतंत्रा दिवस की पूर्व संध्‍या और पाकिस्‍तान के स्‍वतंत्रता दिवस 14 अगस्‍त को खालिस्‍तान समर्थकों ने राष्‍ट्रीय ध्‍वज का अपमान करते हुए खालिस्‍तान के झंडे फरा दिए। पाकिस्‍तान की शहर पर खालिस्‍तान समर्थक अलगाव वादियों ने यह हिमाकत पुलिस प्रशासन के सभी सुरक्षा प्रबंधों को धत्‍ता बताते हुए किया। इस घटना की वीडियो वायरल होते ही पुलिस प्रशासन एवं सरकार के कान खड़े हो गए। प्रदेश एवं भारत सरकार को चिंतित करने वाली यह घटना 14 अगस्‍त शुक्रवार की है।

झंडे को फाड़ कर बनाई वीडियो
मामले के अनुसार मोगा जिले के जिला प्रबंधकीय कांप्‍लेक्‍स की पांचवी मंजील पर चढ़ कर शुक्रवार सुबह दो युवकों ने खालिस्‍तान का झंडा फहरा दिया। यही नहीं इन दोनों यवुकों ने कांप्‍लेक्‍स के बाहर आकर राष्‍ट्रीय ध्‍वज का अपमान भी किया। बताया जा रहा है कि खालिस्‍तान समर्थक आरोपी युवक तिरंगे को फाड़ कर अपने साथ लेते गए। जबकि इनका तीसरा साथी पूरे घटना क्रम का वीडियो बनाता रहा और बाद में इस वीडियो को शोसल मीडिया पर अपलोड कर दिया। कयास लगाया जा रहा है कि कनाडा में बैठा सिख फॉर जस्टिस संस्‍था का सलाहकार गुरपतवंत सिंह पन्‍नू के इशारों पर यह वीडियो जारी की गई।

पुलिस ने रखा 50 हजार का इनाम
घटना के बाद लकीर पीट रही पुलिस ने आरोपी युवकों की पहचान बताने वालों को पचास हजार रुपये देने का ऐलान किया। बताया जा रहा है कि आरोपियों की उम्र 25 से 30 वर्ष के बीच की है और तीनों सेना की वर्दी के रंग के पैंट पहने हुए थे। पुलिस ने इनकी वीडियो फुटेज जारी इनर पर 50 हजार का इनाम रखा है। वहीं जिला धिकारी संदीप हंस ने इसे सुरक्षा व्‍यवस्‍था में बड़ी चूक माना है। एसएसपी हरमनबीर सिंह ने कहा कि आरोपियों पर देश द्रोह का केस दर्ज कर उनकी गिरफ्तारी के लिए पहचान की जा रही है।

किसी के बहकावे में न आएं युवा
इस घटना पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए मुख्‍यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि सिख फॉर जस्टिस पंजाब में घुस कर तो देखे। उन्‍होंने पंजाब के युवाओं से अपील की कि वे देश विरोधी किसी ताकतों के बहकावे में न आएं। देख की आजादी में सिखों का बड़ा योगदान है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here