the jharokha news

क्या आपकी आंखें हैं कमजोर तो जरूर अपनाएं ये घरेलू नुस्खे , How to improve your eyesight

क्या आपकी आंखें हैं कमजोर तो जरूर अपनाएं ये घरेलू नुस्खे , How to improve your eyesight

हेल्थ डेस्क
तेजी से बदलती जीवन शैली में व्यक्ति इस कदर उलझ कर रह गया है कि वह अपनी सेहत का ध्यान नहीं रख पा रह है। आए दिन आ रही नई नई टैक्नोलॉली ने भी इतना व्यस्त कर दिया है कि हर किसी का दिन के 12 घंटों में 10 घंटे उसके मोबाइल और कंप्यूटर पर बीत रहे हैं। यह स्थिति बच्चों से लेकर प्रौढ़ हो चुके लोगों की दिनचर्या का हिस्सा बन गया है। ऐसे में इसका सीधा असर लोगों की आंखों की रोशनी पर पड़ रहा है।


आम तौर पर पहले यह माना जाता था कि 38 से 40 की उम्र में पहुंचते-पहुंचते आंखों की रोशनी कम होने लगती थी। इसे ग्रामीणों की भाषा में चालीसा लगना भी कहा जाता था। लेकिन अब यह समस्या आम हो गई है। कम्र उम्र में ही आंखों पर मोटे-मोटे ग्लास के चस्में चढ़ जाते हैं। इसके पीछे मुख्य कारण पौष्टिक और विटामिन युक्त आहार न मिलना, फास्टफूड का अधिक सेवन, दिनचर्या में बदलाव और कंप्यूटर व मोबाइल पर लंबे समय तक नजरें गड़ाए रहना प्रमुख है। कुछ मामलों में यह बीमारी वंशानुगत भी मानी जाती है।


घरेलू नुस्खों से आंखों की रोशनी को कैसे कायम रखें। इस संबंध में आपको जानकारी दे रहे हैं श्री लक्ष्मी नारायण आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज से सेवानिवृत्त प्रो: डॉक्टर अविनाश श्रीवास्तव। द झरोखा न्यूज डॉटकॉम के जरिए वह आपकों कुछ ऐसे टिप्स बता रहे हैं जिसके नियमित सेवन से आपकों आंखों को आराम तो मिलेगा ही साथ ही आंखों की रोशनी भी बर्करार रहेगी।

अगर आप पठन-पाठन से जुड़े हैं तो इन बातों का रखें ध्यान

डॉ: अविनाश श्रीवास्तव के मुताबिक अगर आप स्टूडेंट्स हैं या फिर अध्यापन के कार्य से जुड़े हैं तो सबसे पहले आपको पढ़ने के किताबों और आंखों के बीच में एक सामान्य दूरी रखनी चाहिए। कम रोशनी में किताबें या अखबार पढ़ने से आंखों पर दबाव पड़ता है। इससे आपकी आंखों की रोशनी भी कम होती है। इस लिए उचित रोशनी में पढ़ाई करें। तेज रोशनी भी आंखों को नुकसान पहुंचा सकती है।


घूप में निकलते हैं तो

यदि आप धूप में बाहर निकलते हैं तो अच्छी क्वालिटी का रंगीन या फोटोक्रोमिक चश्मा लागाएं। क्योंकि तेज धूप भी आपकी आंखों को नुकसान पहुंचा सकती है।

अपनी आंखों के लिए खाओ


गाजर का सेवन आपकी दृष्टि के लिए अच्छा है। गाजर विटामिन ए में समृद्ध हैं। गाजर नजर के लिए एक आवश्यक पोषक तत्व है। हालांकि, विटामिन ए केवल विटामिन नहीं है जो स्वस्थ नेत्र क्रिया को बढ़ावा देता है। सुनिश्चित करें कि आप अपने आहार में विटामिन सी, विटामिन ई, तांबा, और जस्ता से भरपूर खाद्य पदार्थों को शामिल करें।

जैसे-जैसे आप बड़े होते हैं, मैक्यूलर डिजनरेशन आपकी सबसे बड़ी चुनौती बन सकता है। एंटीऑक्सिडेंट मैक्यूलर डिजनरेशन को कम करने में मदद कर सकते हैं। जैसे, अंडे, कद्दू, गाजर, काले पत्तेदार साग, और मीठे आलू जैसे खाद्य पदार्थ खाएं।

मछली आपकी आंखों के लिए भी बेहतरीन है। ठंडे पानी की मछली जैसे मैकेरल, वाइल्ड सैल्मन और कॉड डीएचए से भरपूर होते हैं, यह एक फैटी एसिड होता है जो आपकी आंखों सहित सेल मेम्ब्रेन को मजबूत बनाता है।

अपनी आंखों के लिए व्यायाम करें

अपनी आंखों के लिए व्यायाम करें


चूकि आखों में मांसपेशियां होती हैं, वे अच्छे आकार में बने रहने के लिए कुछ व्यायामों का उपयोग कर सकते हैं। सुबह में किया जाता है, जब आपकी आंखें थका हुआ महसूस करती हैं और बिस्तर से सेवानिवृत्त होने से पहले नेत्र व्यायाम बहुत अच्छा होता है।

अपनी हथेलियों को गर्म हथेलियों से पांच सेकंड तक गर्म करके शुरू करें। इसे तीन बार करें। अपनी आंखों को लुढ़काना सिर्फ झुंझलाहट की अभिव्यक्ति नहीं है, यह आपकी आंखों की मांसपेशियों को भी मदद कर सकता है। दोनों दिशाओं में लगभग दस बार अपनी आखों को देखें और गोल करें।

अपना ध्यान केंद्रित करने के लिए, हाथ की लंबाई पर एक कलम पकड़ें और उस पर ध्यान केंद्रित करें। जब तक यह आपकी नाक से लगभग छह इंच न हो जाए, तब तक पेन को धीरे-धीरे घुमाएं। इस प्रक्रिया को दस बार फिर से करें।

लंबे समय तक कंप्यूटर पर बैठते हैं तो


यदि आप कामकाजी पुरुष या महिला हैं और ऑफिस या घर में लंबे समय तक कंप्यूटर स्क्रीन के सामने रहते हैं तो अपनी इन आदतों में थोड़ा बदलाव करें। लगातार कंप्यूटर स्क्रीन के सामने न बैठें। हर आधे घंटे बाद एक दो मिनट का ब्रेक लें। आंखों पर ठंडे पानी का छींटा मारें। इससे आपकी आंखों को आराम मिलेगा और नेत्र ज्योति भी बनी रहेगी।

बीस मिनट तक करें कसरत


डा: श्रीवास्तव करते हैं कि दिन में कम से कम बीस मिनट तक व्यायाम करना आपकी आखों सहित पूरे शरीर के लिए स्वस्थ है। बेहतर रक्त परिसंचरण आंखों में छोटी रक्त वाहिकाओं के लिए फायदेमंद है क्योंकि यह हानिकारक पदार्थों को निकालता है जो जमा हो सकता है। व्यायाम तीव्र नहीं होना चाहिए।

कुछपल के लिए आंखों को दें आराम


कुछ मिनटों के लिए अपनी आंखें बंद करना सहायक होता है। आप इसे एक घंटे या कई बार कर सकते हैं जब आप काम में कठिन होते हैं। और अगर आपकी नौकरी में कंप्यूटर के सामने बैठना या पढ़ना शामिल है, तो आंखें बंद करना ताज़ा हो सकता है। जितना सरल लगता है, यह व्यायाम आपकी आंखों को थकान या थकान से बचा सकता है।

भरपूर नींद लें


आंखों को स्वस्थ रखने के लिए पर्याप्त नींद जरूरी है। अनिंद्रा या कम सोना आपकी आंखों की रोशनी को नुकसान पहुंचा सकता है। आरामदायक नींद की आवश्यकता होती है। जब आपके शरीर को पर्याप्त आराम मिलता । यदि आप तीव्र दृश्य गतिविधि में संलग्न हैं जैसे कि कंप्यूटर पर काम करना या किताब पढ़ना, तो छोटे ब्रेक आपकी आंखों की मदद करने में एक लंबा रास्ता तय करते हैं, क्योंकि यह उन्हें आराम करने का मौका देता है।

आंखों के अनुकूल वातावरण बनाएं


बहुत सी चीजें जो हमें रोज घेरती हैं वे आंखों के लिए खराब हो सकती हैं। उदाहरण के लिए, कंप्यूटर के सामने लंबे समय तक बैठे रहना, आपकी आंखों में स्विमिंग पूल क्लोरीन का पानी आना, पढ़ते समय मंद प्रकाश का उपयोग करना और फ्लोरोसेंट रोशनी आपकी दृष्टि को ख़राब कर सकती है।

धूम्रपान से बचें


कई कारणों से अस्वस्थ होने के अलावा, धूम्रपान अंधापन में योगदान कर सकता है। धूम्रपान से मोतियाबिंद विकसित होने की संभावना बढ़ सकती है और यह उम्र से संबंधित धब्बेदार अध: पतन (एएमडी) पैदा कर सकता है। इसके अतिरिक्त, धूम्रपान आपकी आंखों के लिए फायदेमंद एंटीऑक्सीडेंट की संख्या को कम कर सकता है।

आंखों की नियमित जांच करवाएं


अधिकांश लोग इंतजार करते हैं जब तक कि वे आंखों की जांच के लिए आंखों की समस्याओं का अनुभव न करें। कभी-कभी, यह बहुत देर हो सकती है। आंखों की परीक्षा जल्दी लेने से समस्याओं के निदान में मदद मिल सकती है इससे पहले कि वे गंभीर हो जाएं। वास्तव में, ज्यादातर दृष्टि दोषों को ठीक किया जा सकता है जब उन्हें जल्दी पता चल जाता है।

समय समय पर करवाएं आंखों की जांच

आंखों को सुरक्षित रखने के लिए यह भी जरूरी हो जाता है कि आंखों की किसी नेत्र विशेष से समय-समय पर आंखों की जांच करवाते रहें। इससे आप आपनी आंखों की बीमारियों से भी बच सकते हैं। साथ ही अपने आहार विहार पर भी ध्यान दें।

क्या आपकी आंखें हैं कमजोर तो जरूर अपनाएं ये घरेलू नुस्खे , How to improve your eyesight

Read Previous

बचकर रहें, कोरोना वैक्सीन के नाम पर साइबर ठग आपका अकाउंट कर सकते हैं खाली

Read Next

नलबंदी करवाने में मर्दों से आगे हैं बाराचवर ब्लॉक की महिलाएं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!