the jharokha news

गांवों में भी कोरोना जैसे लक्ष्णों से हो रही मौत, सरकारी रिकार्ड में कोई आकंडा नहीं

गांवों में भी कोरोना जैसे लक्ष्णों से हो रही मौत, सरकारी रिकार्ड में कोई आकंडा नहीं

प्रतिकात्मक फोटो : स्रो त : सोशल साइट्स

रजनीश कुमार मिश्र, गाजीपुर। 

वैश्विक महामारी कोरोना के दुसरे लहर से गांवों में भी मौत हो रही है।गांवों में होनी वाली अधिकांश मौतों में लक्ष्ण कोरोना जैसे ही दिखाई दे रहे है।आये दिन जनपद के अधिंकाश गांवों में मौतों का आकंडा भी बढ़ा है।लेकिन गांवों मे होने वाली मौतों का सरकारी रेकार्ड में कोई आकंडा नहीं है।सरकारी आकंडे में उन्हीं मौतों को दिखाया जा रहा है।जो अस्पतालों में हो रहे है।अगर वैश्विक महामारी कोरोना. ग्रामीण अंचलों में पुर्ण रूप से फैल गया तो शहर के मुकाबले ज्यादा मौते होने लगेगी।इसका मुख्य कारण गांवों से अस्पतालों का दुर होना यही नहीं अधिकांश सामुदायिक व स्वास्थ्य केन्द्रों पर कोरोना बीमारी का प्राथमिक उपचार न होना होगा।

कोरोना का दूसरा फेज शहरों में मचा रहा आतंक

वैश्विक महामारी कोरोना अभी पूर्ण रूप से शहरो में फैल चुका है।देश का कोई भी ऐसा राज्य नहीं है।जहां वैश्विक महामारी कोरोना आतंक न मचा रहा हो।इस महामारी के कारण हर रोज देश के अलग-अलग राज्यों में सैकड़ों मौते हो रही है।वहीं कोरोना के दूसरे फेज में कोरोना मरीजों का आक्सीजन लेवल कम होना जीसके वजह से कोरोना मरीजों के मौत का कारण बन रहा है।
कोरोना का दुसरा फेज तेजी के साथ लोगों को अपने चपेट में ले रहा है।शहरों में कोरोना इस तरह फैला है,की अस्पतालों में मरीजों को बेड तक नहीं मील पा रहा है।ज्यादा तर मरीज समय से इलाज न मिल पाने के वजह से दम तोड़ रहें है।संयोग वश इलाज मिल रहा है तो आक्सीजन की कमी के कारण दम तोड़ दे रहे है।

गांवों में भी फैल चुका है, कोरोना

कोरोना का दुसरा लहर शहरों से निकल अब धीरे धीरे गांवों में भी पैर पसार चूका है। गाजीपुर जनपद का कोई भी ऐसा गांव नहीं होगा जहां कोरोना के मरीज ना हो।गांवों में होने वाले मौतों पर एक बार नजर दौड़ाई जाय तो अधिकांश लोगों की मौत में सांस लेने में हुई दिक्कतों के वजह से हो रही है।भले ही ग्रामीण अंचलों में हो रही ये मौते सरकारी आंकड़ों में ना हो ।और इसे प्राकृतिक मौत बतादें लेकिन गाजीपुर जनपद के कुछ ब्लाकों बाराचवर, कासिमाबाद, मोहमदाबाद की बात की जाय तो इन ब्लाकों के हर गांवों म़े तीन से चार मौते हर रोज हो रही है।जीन गांवों में हर रोज तीन से चार मौते हो रही है।ये प्राकृतिक मौत नहीं हो सकती।ग्रामीण अंचलों में हो रहे इन मौतों के जिम्मेदार हम ही लोग है।क्यो कोरोना के हल्के लक्षण दिखने पर कोरोना टेस्ट नहीं कराते बल्कि अस्पताल जाने के वजाय सर्दी खांसी की दवा लेकर काम चला लेते है।बाद में यहां लक्षण घातक साबित होकर मौत हो जा रही है।

गांवों म़े दस से बीस प्रतिशत फैल चुका है कोरोना

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जनपद के जखनियां सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के ब्लाक प्रबंधक अधिकारी मनीष गुप्ता ने एक जानकारी देते हुए बताया की गांवों में कोरोना महामारी दस से बीस.प्रतीशत तक फैल चूका है।उन्होंने बताया की हर गांवों में सर्दी जुकाम जैसे बीमारी तो सबको है।लेकिन जब इनकी जांच की जाती है तो बहुत कम लोग पाजिटिव पाये जा रहें है।अधिकांश लोग नेगेटिव मिल रहे है।

गांवों में बढ़ाई गई जांच

गाजीपुर जनपद के जखनियां सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के ब्लाक प्रबंधन अधिकारी मनीष गुप्ता ने बताया की अब जांच का दायरा बढ़ा दिया गया है।उन्होंने बताया की पांच टीम बनाकर हर गांवों में जांच कराया जा रहा है।वहीं बाराचवर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के ब्लाक प्रबंधक अधिकारी भारत भूषण श्रीवास्तव ने बताया की ब्लाक के हर गांवों में जांच किया जा रहा है।इन अधिकारियों ने बताया की जांच के साथ साथ टीकाकरण का काम भी तेजी के साथ हो रहा है।वहीं एक सवाल के जबाब में इन अधिकारियों ने बताया की सर्दी, खांसी व सांस के तकलीफ से कितनों की मौत हुई है।ये जानकारी आप को गाजीपुर मुख्यालय से ही मिलेगा।

एसीएमओ व सीएमओ ने नहीं दी जानकारी, छुपाये जा रहें आंकड़े

गाजीपुर जनपद के गांवों में सर्दी जुकाम व सांस लेने के वजह से कितनों की मौत हुई है।इसकी सही जानकारी उपल्बध नहीं है।
इस बाबत जब सीएमओ जीसी मोर्य से बात किया गया तो उन्होंने फोन ही कट कर दिया।यही बात जब एसीएमओ डाक्टर उमेश कुमार से किया गया तो इन्होंने बताया की गांव वाइज कोई डाटा जिले पर उपलब्ध नहीं है।जानकारी के मुताबिक बतादें की जनपद के सभी प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर टीकाकरण व कोरोना जांच की जा रही है।जिसकी जानकारी हर रोज जनपद के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को उपल्बध करा दी जाती है।तो अब इसे क्या कहा जाय ।जनपद के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों द्वारा जानकारी क्यो क्यो छुपाये जा रहे है।

  • krishna janmashtami
    यह भी पढ़े

Read Previous

अंडा ‘चोर’ , Egg theft अंडा चोरी करते हुए कैमरे में कैद हुआ पंजाब पुलिस का जवान, लोग उड़ा रहे खिल्ली

Read Next

गंदे पानी के तालाब में डूबने से पांच बच्चों की मौत; लखनऊ के रहने वाले हैं पांचों बच्चे, घर में मचा कोहराम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!