the jharokha news

गंगा में बहती लाशों से दहशत में लोग

People in panic due to dead bodies flowing in the Ganges

People in panic due to dead bodies flowing in the Ganges

रजनीश कुमार मिश्र (गाजीपुर)
उत्तर प्रदेश में गंगा किनारे बसे जिलों में गंगा नदी में आये दिन शवों के मिलने का सिलसिला जारी है। जिसके वजह से गंगा किनारे बसे ग्रामीण अंचलों में दहशत फैला हुए है। आये दिन नदी में तैरती हुई लाशें मिल रहीं है। अभी कुछ दिन पहले ही उत्तर प्रदेश से सटे विहार राज्य के बक्सर जिले में गंगा में तैरते हुए सैकड़ो लाशे मिली यही हाल उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जनपद में भी देखने को मिला ।

गाजीपुर के गहमर में दिखीं गंगा में बहती लाशें

बिहार केे बक्सर में लाशों को नदी में तैरने का सिलसिला थमा भी नहीं था। बीते दिन ही बक्सर से सटे गाजीपुर जनपद के गहमर थाने क्षेत्र के नदी में 15 से 20 शव तैरने का मामला सामने आ गया ।जो सिस्टम पर उंगली उठाने के लिए काफी है।हालांकि सूचना मिलते ही जिलाधिकारी मंगला प्रसाद सिंह मामले को गंभीरता से लेते हुए मौके पर पहुंच जानकारी जुटाने में जुट गये।और तत्काल ही एक पेट्रोलिंग पार्टी को नदी भें गश्त करने के लिए भेज दिया की ऐसी और कितनी लाशें गंगा में तैर रही है।शवों के मिलने के तत्काल बाद ही जिलाधिकारी ने अपील किया की जिनके पास शव को जलाने के लिए पैसे नहीं है।उनकी मदद की जायेगी।

दो दिनों में  मिल चुके है 438 शव

विहार से लेकर उत्तर प्रदेश के गंगा किनारे बसे जनपदों आये दिन तैरते हुए शवों का मामला सामने आ रहा है।न जाने ऐसे जनपदों में कितने शव मिले होगे। अगर बक्सर में हो हल्ला न मचा होता तो शायद किसी को इस बात की जानकारी होती। एक आकड़े के मुताबिक उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जनपद में बीते दो दिनों में नंदगंज से लेकर गहमर तक 438शव गंगा में तैरते हुए मिल चुके है।

अगर यही हाल रहा तो इस भयंकर महामारी को ग्रामीण इलाकों में पुर्ण रूप से फैलने से कोई नहीं रोक सकता।उन इलाकों में ये महामारी और तेजी के साथ फैलेगा जो इलाका नदी किनारे बसे है।नदी मे तैर रहे शवों के मामले को गंभीरता से नहीं लिया गया तब शासन व प्रसाशन के आगे एक बड़ी चुनौती सामने आयेगी।

  • krishna janmashtami
    यह भी पढ़े

Read Previous

अमृतसर में युवती की गोली मार कर हत्या

Read Next

फेरे लेने से एक दिन पहले लड़की ने किया शादी से इंकार, ट्रेन के आगे कूद लड़के ने दी जान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!