the jharokha news

थाने पहुंचा ‘मुर्दा’, बोला- साहब! मैं जिंदा हूं

स्रोत गुगल

बलिया। बलिया जिले के थाना बैरिया के देवकी छपरा गांव में एक अजिबोगरीब मामला सामने आया है। पुलिस ने जिस व्यक्ति को मृत बता कर उसका शव पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल बलिया भेजा वह ‘मुर्दा’ दूसरे दिन जिंदा निकाला। यही नहीं वह खुद थाने पहुंचा ‘मुर्दा’, बोला- साहब! मैं जिंद हूं। इस घटना से पुलिस भी आवाक रह गई। हलांकि लोग इस घटना की चटखारे ले ले कर चर्चा कर रहे हैं। मामला बलिया जिले के बैरिया थाना क्षेत्र का है।

मामले के अनुसार रविवार को गांव देवकी छपरा के सामने नाले में एक व्यक्ति का उतराया हुआ शव देख लोगों ने थाना बैरिया पुलिस को सूचित किया। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को बाहर निकलवाया। वहां मौजूद लोगों ने मृतक की पहचना मनसा राम उर्फ जयपाल निवासी बाला घाट मध्यप्रदेश के रूप में की। इसके बाद शव का पंचनामा के बाद पोस्टमार्टम के लिए जिला अस्पताल बलिया भेजवा दिया।

खबर छपने के बाद खुद ही पहुंचा सामने

बताया जा रहा है अखबरों में मनसा राम के मरने की खबर छपने के बाद वह हैरान रह गया। इसके बाद उसने सोमवार को लोगों के साथ खुद थाने पहुंच कर कहा कि साहब! मैं जिंदा हूं।  वहीं, दूसरी ओर पोस्टमार्ट हाऊस पहुंच कर मृतक की पहचान उसके परिजनों ने पोस्टमार्टम हाउस पहुंचकर बिंद टोला के सुभाष बिन्द के रूप में की। बताया जा रहा है कि सुभाष बिंद तीन-चार दिनों से घर से लापता था। इस संबंध में एसएचओ थाना बैरिया शिवशंकर सिंह ने कहा कि रविवार मौके पर पहुंचे उपनिरीक्षक को लोगों ने मृतक का नाम मनसा राम बता दिया था। इसकी वजह से गलत फहमी हुई थी। सच्चाई पता चलने पर उसका पोस्टमार्टम रुकवा दिया गया था।







Read Previous

मऊ में पिता-पुत्र को फांसी की सजा, जानें क्या है पूरा मामला

Read Next

मां ने रोटी बनाने को कहा तो बेटी ने लगाया फंदा, मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published.