• June 16, 2021

वैश्विक महामारी कोरोना ने परसा गांव में मचाया था तांडव, दो महीनों में 23 लोगों की हुई थी मौत

रजनीश कुमार मिश्र (गाजीपुर) वैश्विक महामारी कोरोना उत्तरप्रदेश के गाजीपुर जनपद के परसा गांव में ऐसा तांडव मचाया था,की अप्रैल व मई में इन दो महीनों में करीब 23 लोगों की मौत हो गई।इन मौतों पर अगर नजर डाला जाये तो कुछ मौते तो कोरोना बीमारी से हुई।वहीं कुछ मौते प्राकृतिक रुप से हुई।

लेकिन प्राकृतिक रुप से हुई मौतों का कोरोना टेस्ट नहीं कराया गया था।हालांकि इन प्राकृतिक रूप से हुई मौतों के लक्षणों पर एक नजर डाला जाये तो कोरोना संबंधित लक्षण ही दिखाई दे रहे थे।परसा के ग्रांम प्रधान गोपाल पासी ने बताया की सरकार के तरफ से अभी तक इन मृतक परीवारों का किसी प्रकार की मदद नहीं किया गया है।

परसा गांव में 23 लोगों की मौत

गाजीपुर जनपद के मोहम्मदाबाद थाने क्षेत्र के परसा गांव में अप्रैल से लेकर मई तक करीब 23 लोगों की मौत हो चुकी है।परसा गांव के ग्रांम प्रधान गोपाल पासी ने बताया की बीते दो महीनों में 23 लोगों की मौत हुई है।

मरने वालों में सभी 90 से लेकर 48 वर्ष के लोग शामिल है।गोपाल पासी ने बताया की इनमे कुछ कोरोना से तो कुछ स्वभाविक मौते हुई है।हांलाकि जो स्वभाविक मौते हुई है।वो संदिग्ध ही है।क्यो की इनकी कोई कोरोना जांच नहीं हुई थी।

सरकार के तरफ से मृतक.परीवारों की नहीं हुई मदद

गाजीपुर जनपद के परसा गांव के प्रधान गोपाल पासी ने कहा की जीनकी कोरोना से मौत हुई है।उन्हें अगर सरकार के तरफ से कोई मदद मिल जाती तो परिवार चलाने के लिए अच्छा होता।एक सवाल का जबाब देते हुएं ग्रांम प्रधान गोपाल पासी ने बताया की गांव में सैनिटाइजेसन का कार्य अपने माध्यम से करा रहे है।

उन्होंने बताया की सप्ताह में एक बार पुरे गांव में अपने माध्यम से कराता हूं।वैक्सीनेशन के सवाल पर गोपाल पासी ने बताया की हमारे गांव के लोग वैक्सीन भी लगवा रहे है।और हमारे तरफ से लोगों को जागरूक भी किया जा रहा है।

सरकार से नहीं मिली कोई मदद

परसा गांव के प्रधान गोपाल पासी ने बताया की जीनकी मौते हुई है।उन लोगों में कुछ ऐसे लोग भी थे जिनकी माली हालत ठीक नहीं था।गोपाल पासी ने बताया की सरकारी सिस्टम की तरफ से अभी तक मृतकों के परिवार को किसी प्रकार की कोई मदद नहीं मिली है।बात है जनसहयोग की तो अपने माध्यम से जितना हुआं है।उतना किया हू।

23 मौतों में कुछ कोरोना से तो कुछ संदिग्ध

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जनपद के परसा गांव में दो महीनों में होने वाली मौतों पर नजर डाली जाये तो कुछ मौते कोरोना से हुई है।तो वहीं कुछ मौते संदिग्ध भी हुई है।जिन्हें आकड़ों में स्वभाविक दिखाया गया है।हालांकि स्वभाविक कोरोना काल में जो मौते स्वाभाविक दिखाई जा रही है।उन मृतकों का कोरोना जांच नहीं हुआ है।ग्रांम प्रधान ने बताया की इन मौतों में 90 से लेकर 48 वर्ष के महीला व पुरूष शामिल है।

 ये हैं परसा गांव के मृतक

ग्रांम प्रधान ने बताया की रामप्यारी देवी पत्नी प्रद्युमन राय उम्र (97), वर्ष मृत्यु स्वभाविक या संदिग्ध, रामधनी यादव पुत्र मुन्नी यादव (64) मृत्यु स्वभाविक या संदिग्ध,  रामचंद्र पुत्र रामजन्म (80) वर्ष मृत्यु कोरोना से वंशीधर मोर्य (64) वर्ष स्वभाविक या संदिग्ध, रामप्रसाद कुशवाहा (78) मृत्यु स्वभाविक या संदिग्ध, रामसरन कुशवाहा पुत्र रामप्रसाद(62) मृत्यु कोरोना, विन्ध्याचल सिंह यादव (61) वर्ष मृत्यु कोरोना, ऐसे करीब 23 लोगों की मौत दो महीनों में हुई है।

jharokha

Read Previous

बाजार खाला कोतवाली के अंतर्गत ऐशबाग चौराहे पर चलाया गया चेकिंग अभियान

Read Next

मुठभेड़ में 5 शातिर बदमाशो को जान पर खेल कर अवैध असलाह चोरी के वाहन व् मोबाइल चोरी का सामान सहित किया गिरफ्तार दो बदमाश फरार होने मै रहे कामयाब

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *