• June 16, 2021

सेना के जवान राजनाथ का शव पहुंचते ही, गमगीन हुआ माहौल

रजनीश कुमार मिश्र बाराचवर। बाराचवर ब्लाक अंतर्गत खारा निवासी सेना के जवान राजनाथ का मुंबई में ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई। जिनका पार्थिव शरीर बृहस्पतिवार को सायं चार बजे के आस पास उनके पैतृक आवास लाया गया। जैसे ही सेना के जवान राजनाथ का शव खारा गांव में पहुंचा वहां मौजूद लोगो के आंखों से आशू बहने लगे ।वहीं जवान राजनाथ राम की पत्नी उनके शव से लिपट कर रोने लगी।

जानकारी के अनुसार खारा निवासी राजनाथ राम की सेना मे नौकरी 2001 मे लगी थी ।फिलहाल वो मुबंई में हवलदार के पद पर तैनात थे।वहां मौजूद लोगों ने बताया की हवलदार राजनाथ राम मुंबई में बुधवार को अपने डियूटी पर जाने के लिए ट्रेन पर चढ़ते वक्त उनका पैर फिसल गया।जिससे वो ट्रेन की चपेट में आ गये और बुरी तरह घायल हो गये।

 

घायल जवना राजनाथ का इलाज सेना के हास्पिटल में चल रहा था।लेकिन इलाज के दौरान राजनाथ राम की मौत हो गई।गुरुवार को राजनाथ का शव बाबतपुर एयरपोर्ट लाया गया।जहां से सेना के जवानों राजनाथ राम का शव सड़क मार्ग द्वारा उनके पैतृक आवास खारा लेकर आये।

बतादें की खारा निवासी राजनाथ राम अप्रैल माह में ही घर आये हुए थे।जहां छुट्टी बितु के बाद वो पुनः अपने डियूटी पर गये हुए थे।जहां इन्होंने पुनः छुट्टी के लिए अपलाई किया हुआ था।व राजनाथ की छुट्टी भी मंजूर कर ली गई थी।इस दौरान बरेसर थानाध्यक्ष शशी चंद चौधरी व करीमुद्दीनपुर थानाध्यक्ष रामनेवाश भी अपने फोर्स के साथ वहां मौजूद थे।

तो वहीं ब्लाक प्रमुख के दोनों प्रत्याशी ब्रजेंद्र कुमार सिंह व शिवशंकर सिंह, शौकत अंसारी, बाराचवर चौकी प्रभारी पवन सिंह भी मौजूद थे।राजनाथ का अंतिम संस्कार देर रात सुल्तानपुर घाट पर किया गया। पिता रामांशंकर राम ने अपने पुत्र राजनाथ राम को मुखाग्नि दी।वहीं युवाओं ने जब तक सूरज चांद रहेगा, राजनाथ तेरा नाम रहेगा, जैसे गगनभेदी नारों के साथ राजनाथ को श्रद्धानंजलि दी।

jharokha

Read Previous

कोतवाली बाजार खाला के अंतर्गत मिलएरिया चौकी मोतीझील का मामला

Read Next

नदी में कूदने वाली 13 साल की किशोरी की पुलिस और राहगीर ने बचाई जान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *