the jharokha news

Ghazipur News: कासिमाबाद तहसील के अधिवक्ता के ऊपर चढ़ा दबंगई का नशा

Kundan Singh Ghazipur: जहा आजकल उत्तर प्रदेश में शासन प्रशासन से लेकर कर्मचारी तक को माननीय योगी सरकार मे एक चुस्त-दुरुस्त सरकार के रूप में उत्तर प्रदेश सरकार को देखा जा रहा है वही उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जनपद कासिमाबाद तहसील क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम सभा रामगढ़ में बंजरभूमि पर दबंगों द्वारा दबंगई पूर्वक और शासन-प्रशासन के नियमों को ताक पर रख कर बंजर भूमि को अतिक्रमण करने का मामला सामने आया है।

जब इसकी सूचना क्षेत्रीय लेखपाल राधेश्याम यादव पता चलने पर मौके पर जाकर अतिक्रमण कर रहे लोगों से बार बार निवेदन कर कार्य को रोकने की अपील करने पर कासिमाबाद तहसील के अधिवक्ता सुधीर कुमार ने जोर जबरदस्ती के साथ ही लेखापाल के सामने ही मनमाने ढंग से दीवार की जोड़ाई करवाते हुए लेखापाल को वहां से जल्दी चले जाने की धमकी दिया फिर भी लेखपाल ने अधिवक्ता से अपनी बात कहना चाहे तो उसने यह कहते हुए बातें टाल दिया कि इस जमीन को मैं अपने कब्जे में ले रहा हूं यह भूमि बंजर है कि सरकारी इससे मेरा कुछ भी लेना देना नहीं है यह जमीन मेरे मौके पर है

  थाने पहुंचा 'मुर्दा', बोला- साहब! मैं जिंदा हूं

इसीलिए मैं इसको अपने कब्जे में लेकर अपना सहन बनाना चाहता हूं अगर आपको कोई आपत्ति है तो जाकर शासन प्रशासन से मेरी शिकायत करिए और जो मन में आये किजिए मै यहीं खड़ा हूं और इससे भी मन ना भरे तो मेरा फोटो खींच लीजिए मैं यहीं खड़ा हूं तब लेखपाल राधेश्याम यादव ने इस मामले का संज्ञान पुलिस प्रशासन को अवगत कराते हुए सार्वजनिक संपत्ति नुकसान निवारण अधिनियम 1984/3A एवं सार्वजनिक संपत्ति नुकसान निवारण अधिनियम 1984/5A के तहत जमुना पुत्र रामसोच , सुधीर कुमार पुत्र जमुना राम , अनिल कुमार पुत्र जमुना राम , बालेश्वर राम पुत्र जुडी राम के ऊपर कासिमाबाद थाना में मुकदमा दर्ज कराया ।








Read Previous

Ghazipur News: थाना रामपुर मांझा में शामिल किये गये गांव देवकली व मुस्लिमपुर के ग्रामीण परेशान

Read Next

Ghazipur News: झोपड़ी में आग लगने से मवेशियों की हुई मौत लाखों का हुआ नुकसान