the jharokha news

Ghazipur News: पुर्वांचल के दो बाहुबली मुख्तार अंसारी बृजेश सिंह कोर्ट में नहीं हुए आमनेसामने

Ghazipur News: रजनीश कुमार मिश्र (गाजीपुर) मंगलवार को मुख्तार अंसारी व बृजेश सिंह की उसरी कांड में पेशी होनी थी । जहां बृजेश सिंह ने अपने वकील के साथ एमपी एमएल कोर्ट में हुए तो वही बृजेश सिंह के जानी दुश्मन मुख्तार अंसारी पेशी पर नहीं आ सके । कोर्ट ने अगली तारीख 17 जनवरी को दी है। जहां बृजेश व मुख्तार दोनों एमपी एमएल कोर्ट में पेस होगें। मुख्तार व बृजेश की पेशी को लेकर पुरा जिला प्रशासन हलकान था ।चप्पे चप्पे पर पुलिस व पीएसी के जवानों का कड़ा पहरा था ताकि दोनों तरफ के समर्थकों के बीच कोई अप्रिय घटना ना घट जाये । वहीं मिडिया की नजरें भी कोर्ट के तरफ था । क्यो की दशकों बाद दो जानी दुश्मन आमने सामने होने वाले थे ।

  Ghazipur news: भांवरकोल,जमीन के टुकड़े के लिए पुत्र ने की पिता की हत्या

2001 में हुए उसरी कांड में मुख्तार अंसारी व बृजेश सिंह की पेशी होनी थी । बतादें की सन् 2001 में मुख्तार अंसारी अपने आवास युसूफपुर फाटक से अपने विधानसभा क्षेत्र मऊ जा रहे थे । तभी मोहम्मदाबाद विधानसभा क्षेत्र के उसरी चट्टी पर कुछ हमलावरों ने फिल्मी अंदाज में ट्रक से मुख्तार का काफिला रोक अंधाधुंध फायरिंग करना शुरू कर दिया । जिसमें मुख्तार के नीजी अंगरक्षक समेत तीन लोगों की मौत हो गई थी । वहीं इस फायरिंग में एक हमलावर भी मारा गया था । इस हमले का आरोप मुख्तार अंसारी ने बृजेश सिंह,त्रिभुवन सिंह व अनील सिंह पर लगाया था। इसी केश में मुख्तार अंसारी व बृजेश सिंह की आज पेशी होनी थी ।

  लोगों की गालियां सुन रहे स्वास्थ्य कर्मी, फिर भी कर रहे हैं वेरीफाई

अगर आज दोनों की पेशी होती तो बृजेश सिंह आरोपी के रुप में कटघरे में होता वहीं बृजेश के जानी दुश्मन बृजेश की पहचान करता । लेकिन एक बार फिर मुख्तार अंसारी बांदा जेल से गाजीपुर पेशी में नहीं आ पाये । सुत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार मुख्तार अंसारी कुहरे के कारण अदालत में पेश नहीं हो पाये ।उसरी कांड के मुख्य गवाह तौकीर के बयानों पर कुछ दिन पुर्व जिरह हुआ था । जिसमें गवाह तौकीर ने माफिया बृजेश सिंह को पहचानने से इंनकार कर दिया था । इसी केश में मुख्तार अंसारी की पेशी थी । जहां मुख्तार अंसारी की गवाही आज अहम होने वाली थी ।








Read Previous

Punjab News: दम घुटने से पंजाब में बिहार के पांच मजदूरों की मौत, अंगीठी जलाकर सो रहे थे कमरे में, बेंगू सराय के थे सभी

Read Next

How To Start Investing In Cryptocurrency: A Guide For Beginners