the jharokha news

कुछ रुकावटें आती हैं, पर वादे जरूर पूरा करूंगा : डा: कुवंर विजय प्रताप

कुछ रुकावटें आती हैं पर वादा जरूर पुरा करूंगा : कुंवर विजय प्रताप सिंह,

स्वतंत्रता दिवस पर आयोजित कार्यक्रम में लोगों संंबोधित करते हुए डा : कुवंर विजय प्रताप सिंह

अमृतसर : स्वतंत्रता दिवस पर आजादी के अमृत महोत्सव के तहत गुरु नगरी लोगढ़ स्थित अंध विद्यालय में रोटरी क्लब की ओर से कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में पूर्व आईपीएस अधिकारी और एमएलए डा: कुंवर विजय प्रताप सिंह पहुंचे।
यह कार्यक्रम करीब एक घंटे से भी अधिक समय तक चला। कार्यक्रम का शुभारंभ वंदे मातर गीत से हुआ। इस दौरान दृष्टीहीन बच्चों ने देशभक्ति पर आधारित कई कार्यक्रम पेश किए। दृष्टिहीन बच्चों के इस कार्यक्रम को मुख्य अतिथि सहित वहां मौजूद लोगों ने तालियां बजाकर काफी सराहा।

कार्यक्रम के दौरान बतौर मुख्य अतिथित एमएलए डा: कुवंर विजय प्रताप सिंह ने रोटरी क्लब के सदस्यों से कहा कि उन्हें पिछले साल की पुरानी बातें याद है। कुछ रुकावटें आती हैं, जिससे काम में विलंब होता है। उन्होंने कहा कि वह पिछले साल के वादे को जरूर निभाएंगे।
अंध विद्यालय और वहां के प्रबंधन की तारीफ करते हुए उन्होंने कहा कि यह संभवत: उत्तर भारत का पहला ऐसा विद्यालय है, जिसमे सभी धर्मों के दृष्टिहीन बच्चों को शिक्षा दी जाती है। उन्होंने कहा कि इस समय इस विद्यालय में पंजाब सहित विभिन्न प्रांतों से आए करीब 70 अधिक बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा दी जा रही है। इसके साथ ही उन्हें रोजगार परक शिक्षा भी दी जाती है।

डा: विजय ने अंध विद्यालय की ओर से शिक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों की सराहना करते हुए लोगों से अंध विद्यालय को अधिक से अधिक सहयोग करने की अपील की, ताकि दृष्टिहीन बच्चों को शिक्षत कर उनके जीवन में फैले अधियारे को शिक्षा की रोशनी जगमग किया जा सके।
कार्यक्रम के शुरू होने से पहले डा: कुंवर विजय प्रताप सिंह ने विद्यालय प्रबंधन की ओर से लगाई गई प्रदर्शनी को भी देखा। इस दौरान उन्होंने ब्रेल में लिखी गीता, रामायण, श्रीमद्.भागवत पुराण सहित कई पुस्तकों को भी गौर से देखा। और उनके बारे में वहां मौजूद लोगों से समझा।







Read Previous

बाराचवर, गाजीपुर: 34वीं पुण्यतिथि पर याद आए पं. केशव प्रसाद चतु‍र्वेदी

Read Next

Ghazipur News: आंगनबाड़ी केंद्र टोडरपुर में प्रमिला चौबे ने फहरा तिरंगा